खुद बेसहारा होकर बनीं दूसरों का सहारा, भूखीं रहकर कुत्तों को खिला रहीं खाना

माधुरी बनीं बेजुबानों के लिए मसीहा !

By: Shailendra Sharma

Published: 03 Jun 2020, 02:18 PM IST

इंदौर. शहर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संकट के बीच एक तरफ जहां लोग घरों में कैद हैं तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग ऐसे भी हैं जो रोजाना असहाय लोगों तक मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं...दूसरों की मदद के लिए आगे आने वाले इन लोगों में से एक हैं माधुरी सिंह...माधुरी शहर के न्यू वैभव लक्ष्मी नगर में रहती हैं और रोजाना अपने हिस्से के खाने में से आधा खाना आवारा कुत्तों को खिला रही हैं..माधुरी खुद भी मदद के लिए दूसरों पर आश्रित हैं लेकिन इसके बावजूद उनका बेजुबान जानवरों के प्रति स्नेह तारीफ के काबिल हैं ।

खुद असहाय फिर भी बेजुबानों का सहारा
माधुरी खुद भी असहाय हैं और भरण पोषण के लिए दूसरों पर आश्रित हैं लेकिन इसके बावजूद बेजुबान जानवरों के प्रति उनका प्यार इस बात से समझा जा सकता है कि वो खुद भूखी रहकर आवारा कुत्तों को खाना खिला रही हैं...दरअसल माधुरी का पति से विवाद के बाद कोर्ट में केस चल रहा है..माधुरी की एक आठ साल की बेटी भी है जिसके साथ वो पति के दिए हुए मकान में रहती है...किसी तरह छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर माधुरी अपना भरण पोषण करती है लेकिन कोरोना संकट के कारण उनका ये सहारा भी उनसे छिन गया है..ट्यूशन बंद होने के कारण माधुरी के सामने परिवार का भरण पोषण करने की चुनौती थी..

patrika

समाजसेवी संस्था ने बढ़ाया मदद का हाथ
माधुरी की माली हालत की जानकारी मिलते ही समाजसेवी संस्था मदद के लिए आगे आई और माधुरी के घर राशन पहुंचाया..राशन पहुंचने के बाद भी माधुरी की परेशानी कम नहीं हुई और उसे परेशान देख जब समाजसेवी संस्था के सदस्यों ने उनके घर जाकर देखा तो वहां पर कई कुत्ते बैठे हुए थे...माधुरी से जब कुत्तों के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण इन बेजुबान जानवरों को भी खाना नहीं मिल पा रहा है और वो अपने हिस्से का आधा खाना इन्हें खिलाती हैं...माधुरी का जानवरों के प्रति ये स्नेह देख समाजसेवी संस्थाओं ने भी आगे और ज्यादा मदद माधुरी तक पहुंचाने की बात कही है।

patrika

बेजुबान किससे मांगे मदद- माधुरी
माधुरी सिंह बताती हैं कि पहले तो इन कुत्तों को कॉलोनी के दूसरे घरों से खाना मिल जाता था लेकिन जब से लॉकडाउन हुआ है इन्हें भी खाना मिलना बंद हो गया है...कई दिनों तक बेजुबान कुत्ते भूखे रहे और अब वो जितना हो पा रहा है उन्हें खाना खिला रही हैं ऐसा करने से उनके दिल को सुकून मिलता है ।

Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned