दिल्ली से डबल कंटेनमेंट जोन तो UP से तीन गुना ज्यादा मौत, कोरोना का बड़ा हॉटस्पॉट केंन्द्र बना इंदौर

20 अप्रैल तक राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1485 पहुंच गई है, जबकि 76 लोगों की मौत हुई है

By: Devendra Kashyap

Updated: 21 Apr 2020, 12:52 PM IST

इंदौर. मिनी मुंबई के नाम से मशहूर इंदौर देश में कोरोना का सबसे बड़ा केंद्र बन गया है। स्थिति इतनी भयावह है कि कोरोना से जितनी मौतें पूरे यूपी में हुई हैं, उससे तीन गुना ज्यादा अकेले इंदौर में हो गई है। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, 20 अप्रैल तक राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1485 पहुंच गई है, जबकि 76 लोगों की मौत हुई है।

अगर इंदौर की बात की जाए तो यहां पर अब तक 52 लोगों की मौत हुई है। जबकि इंदौर के बाहर पूरे राज्य में कोरोना से सिर्फ 24 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावे कोरोना पॉजिटिव केस की संख्या में इंदौर राज्य में सबसे आगे है। कुल 1485 केस में से 897 इंदौर से हैं।

इसके अलावे पूरे प्रदेश में अभी तक 29 मरीजों की हालत स्थिर है, इनमें से 23 इंदौर से ही हैं। दो थाना प्रभारी और दो डॉक्टर भी इंदौर में अपनी जान गंवा चुके हैं। पूरे देश से किसी पुलिसकर्मी या डॉक्टर की कोरोना से मौत की खबर नहीं आई है, हालांकि कोरोना से संक्रमित जरूर हुए हैं।

दिल्ली-यूपी से भी आगे है इंदौर


इंदौर, दिल्ली और यूपी जैसे राज्यों को भी कई मामलों में पीछे छोड़ दिया है। देश की राजधानी दिल्ली में अब तक कुल 2003 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं, इनमें 47 लोगों की मौत हुई है जबकि 290 मरीज ठीक हो गए हैं। वहीं, पूरे दिल्ली में 84 कंटेनमेंट जोन घोषित किये गए हैं, जबकि इंदौर की बात की जाए तो यहां 897 में सिर्फ 71 मरीज ठीक हो पाए हैं और कंटेनमेंट जोन की संख्या दिल्ली से डबल यानी 170 है।

वहीं अगर यूपी से तुलना की जाए तो इसमें भी इंदौर काफी आगे है। यूपी में अब तक कोरोना के 1176 केस सामने आए हैं और यहां पर 18 मरीजों की मौत हुई हैं। यानी 20 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले यूपी में कोरोना से 18 जान गई है, जबकि 32 लाख वाले इंदौर में यूपी से करीब तीन गुना ज्यादा 52 लोगों ने जान गंवाई है।

Corona virus coronavirus
Show More
Devendra Kashyap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned