सर्विस रोड पर रसूखदारों ने कर लिए स्थाई निर्माण

अतिक्रमण की हद : बीआरटीएस की सर्विस रोड पर कई जगह पेवर ब्लॉक और टाइल्स लगाकर कर रखा है कब्जा

शहर की कई प्रमुख सड़कों पर इन दिनों तेजी से अतिक्रमण किया जा रहा है। सर्विस रोड पर तो शोरूम, शॉपिंग मॉल, रेस्टोरेंट संचालकों ने स्थाई निर्माण कर डाले हैं। इससे ट्रैफिक बाधित हो रहा है। शहर की सबसे अधिक व्यस्त सड़क एबी रोड के बीआरटीएस वाले हिस्से के सर्विस रोड पर अधिकांश जगहों पर अतिक्रमण किया जा चुका है। लेकिन जिम्मेदार आंखें मूंदे बैठे हैं।

इंदौर. शहर के बिगड़ैल ट्रैफिक को सुधारने के लिए पुलिस और जनता ने कमर कस रखी है लेकिन नगर निगम इस मामले में खास रुचि नहीं दिखा रहा है। शहर के बड़े और व्यस्त बीआरटीएस की सर्विस रोड पर कई शोरूम, मॉल, बिल्डिंग और रेस्टोरेंट संचालकों ने पक्के कब्जे कर रखे हैं। ये लोग सर्विस रोड को अपने प्रतिष्ठान में एक तरह से मिलाकर उसका निजी उपयोग कर रहे हैं, लेकिन न तो नगर निगम और न ही पुलिस व प्रशासन इस ओर ध्यान दे रहे हैं।

शहर के ट्रैफिक के लिहाज से बीआरटीएस अहम है लेकिन जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते प्रभावशाली लोग मनमानी कर रहे हैं। सर्विस रोड से कुछ ऊंचाई पर शोरूम, मॉल, बिल्डिंग और रेस्टोरेंट बने हैं। कुछ संचालकों ने सर्विस रोड पर टाइल्स और पेवर ब्लॉक लगाकर प्रतिष्ठान के बराबर कर लिया है। दोनों ओर से सर्विस रोड को बंद कर इसका निजी उपयोग किया जा रहा है। कब्जे वाली जगह का इस्तेमाल पार्किंग, विज्ञापन बोर्ड, माल का परिवहन और टेबलें लगाकर किया जा रहा है।

विजय नगर थाने के पास स्थित शर्मा स्वीट्स का सर्विस रोड से कब्जा हटाया गया था, लेकिन संचालक फिर से लोगों को सर्विस रोड़ पर बैठाकर व्यंजन परोस रहा है। शर्मा स्वीट्स के आगे वाली रोड पर पेवर ब्लॉक लगाकर सड़क एक बड़ा हिस्सा निजी उपयोग में लिया जा रहा है। सुंदरम स्वीट्स, प्रशांत, गिफ्ट्स आइडियाज, टी टाइम, एसजीएफ नाक रेस्टोरेंट और प्रतिष्ठानों की टेबलें लगी हैं। रोड को रेस्टोरेंट की तर्ज पर उपयोग किया जा रहा है।

सर्विस रोड पर रसूखदारों ने कर लिए स्थाई निर्माण

...तो मिले जाम से मुक्ति

एलआइजी चौराहा से देवास नाके तक बीआरटीएस की मिक्स लेन के बाद साइकिल ट्रेक और फिर सर्विस रोड है। सर्विस रोड से छोटे वाहन आवाजाही कर सकते हैं लेकिन सड़क बंद होने से दुपहिया वाहनों को भी मुख्य मार्ग से गुजरना पड़ता है एेसे में वाहनों का दबाव अधिक होता है।

कब्जों के साथ मॉल की पार्किंग

शोरूम, बिल्डिंग और रेस्टोरेंट के अलावा मॉल की पार्किंग भी सर्विस रोड पर हो रही है। मॉल में क्षमता से अधिक वाहन आते हैं जिन्हें सर्विस रोड पर पार्क करवा दिया जाता है। इसी तरह होटलों और गार्डन में विवाह और अन्य आयोजन होने पर दुपहिया और चार पहिया वाहन भी सर्विस रोड और साइकिल ट्रैक पर खड़े किए जाते हैं। अवैध रूप से वाहन खड़े करवाने के लिए बाकायदा कर्मचारी रखे गए हैं।

सर्विस रोड पर रसूखदारों ने कर लिए स्थाई निर्माण

इस तरह हो रहे कब्जे

एलआइजी चौराहे के आगे एमआर-9 चौराहे पर लोटस शोरूम की गाडि़या सर्विस रोड पर खड़ी की जाती हैं जिससे रोड बंद रहती है। इसी के आगे ऑर्बिट मॉल के सामने प्रिंसेस बिजनेस पार्क के नीचे कई शोरूम हैं इसके आगे वाली सॢवस रोड पर पेवर ब्लॉक लगाए गए हैं। दो और चार पहिया वाहन खड़े किए जाते हैं। सत्य सांई चौराहे स्थित इलेक्ट्रनिक शो रूम रियल इस्टर्न ट्रेडिंग और हेडक्वार्टर नामक बिल्डिंग संचालकों ने सर्विस रोड पर उससे भी ऊंचे पेवर ब्लॉक लगाकर इसका निजी उपयोग कर रखा है। देवास नाका से एलआइजी चौराहे तक मॉल और गाडि़यों के शोरूम की पार्किंग के कब्जे देखे जा सकते हैं।

नगर निगम और पुलिस की अनेदखी

बी आरटीएस ट्रैफिक की सुगमता के लिहाज से बनाया गया था, लेकिन लापरवाही के चलते यहां जाम लगा रहता है। कई शोरूम, बिल्डिंग और अन्य प्रतिष्ठानों में नियमानुसार पार्किंग नहीं है। नगर निगम एेसे प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई नहीं करता है। इसी तरह ट्रैफिक पुलिस भी हर समय नो पार्किंग में खड़े वाहनों पर कार्रवाई का हवाला देती है लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ खास फर्क नहीं दिखाई देता।

जिम्मेदार बोले

सर्विस रोड पर किसी तरह का निर्माण नहीं किया जा सकता है। सर्विस रोड जनता की आवाजाही के लिए होती है। अगर कोई प्रतिष्ठान सर्विस रोड का निजी उपयोग कर रहा है तो यह गलत है। जल्द ही सर्विस रोड को कब्जे से मुक्त करवाएंगे।

- महेंद्र सिंह चौहान, उपायुक्त, नगर निगम

सर्विस रोड पर होने वाली पार्किंग पर ट्रैफिक पुलिस हर समय कार्रवाई करती है। दिनभर क्रेन क्षेत्र में घूमकर चालान बनाती है। पार्किंग के मामले में नगर निगम से भी पत्राचार किया गया है। आगे पुलिस कार्रवाई में और तेजी लाएंगे।

- उमाकांत चौधरी, डीएसपी ट्रैफिक पूर्व

jay dwivedi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned