इनामी को पुलिस ढूंढ़ती रह गई, क्राइम ब्रांच ने चारा बना पकड़ी एमडी ड्रग

पर्दे के पीछे का खेल: एक किलो एमडी खरीदी थी आरोपी ने, गिरफ्तार लेने से बच रहे अफसर, हैदराबाद की फैक्टरियों में चल रही जांच

इंदौर. सागर व आंटी को एमडी उपलब्ध कराने पंढरीनाथ इलाके के बदमाश व एक पूर्व पार्षद के भाई की मुख्य भूमिका थी। विजयनगर पुलिस ने बदमाश पर 5 हजार का इनाम घोषित किया। इधर, बदमाश क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ा तो उसे चारा बनाकर 70 किलो का एमडी पकड़ लिया। हालांकि बदमाश से एमडी व एक लग्जरी कार भी जब्त की थी लेकिन अफसर उसकी गिरफ्तारी लेने से बच रहे है।
पंढरीनाथ इलाके में रहने वाले रईस को पुलिस ने सफेद रंग की लग्जरी कार के साथ पकड़ा। आरोपी एमडी की तस्करी करता है। दिनेश अग्रवाल व हैदराबाद के वेदप्रकाश व्यास के जरिए वह सीधी ड्रग की खरीदी करता था। लॉक डाउन के बाद रईस ने करीब 20 किलो एमडी खरीदी थी। इस एमडी में से एक बड़ा हिस्सा, सागर, विक्की परियानी व आंटी उर्फ प्रीति जैन को बेचा था। विजयनगर पुलिस ने जब इन लोगों को गिरफ्तार किया तो आरोपियों ने रईस व एमआईजी के अदनान से एमडी खरीदने की कहानी अफसरों को बता दी। इसमें एक पूर्व पार्षद का भाई भी शामिल है। एसआईटी में शामिल एसपी पूर्व विजय खत्री व एएसपी राजेश रघुवंशी के सामने बात आई तो रईस, अदनान की तलाश शुरू हुई।
आरोपी हाथ नहीं लगे, इधर आईजी हरिनारायणाचारी मिश्रा ने संपत्ति की तलाश शुरू करा दी। अदनान के मकान को तोडऩे की कार्रवाई भी शुरू हुई तो आरोपियों को बचाने के लिए दबाव का खेल शुरू हो गया। एसपी खत्री ने आंटी के बेटे यश के साथ रईस व अदनान पर भी 5-5 हजार का इनाम घोषित कर दिया। बताते है कि बचने के लिए साथियों ने क्राइम ब्रांच में संपर्क किया। क्राइम ब्रांच ने रईस को एक किलो एमडी व उसकी लग्जरी कार के साथ पकड़ा लेकिन कार्रवाई नहींं की। रईस के जरिए पुलिस टीम दिनेश अग्रवाल व वेदप्रकाश व्यास तक पहुंची और बड़ी खेप की डील कर ली। रईस के जरिए डील कराकर आरोपियों को 70 किलो एमडी के साथ पकड़ लिया। इधर, सागर, आंटी व विक्की को एमडी देेने के मामले में विजयनगर पुलिस ने रईस पर इनाम घोषित किया लेकिन रईस को हिरासत में लेने के बाद भी दबाव में गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। अफसर उसका नाम लेने से भी बच रहे है। एसपी खत्री ने माना कि रईस पर 5 हजार का इनाम है लेकिन क्राइम ब्रांच के हत्थे चढऩे के बारे में वे कुछ नहीं बोल रहे। एएसपी गुरुप्रसाद पाराशर भी अभी रईस की गिरफ्तारी से इनकार कर रहे है।
हैदराबाद में कई फैक्टरियों की जांच
क्राइम ब्रांच की टीम आरोपी वेदप्रकाश व्यास को लेकर हैदराबाद गई है। रविवार को स्थानीय पुलिस के साथ लेकर वहां कई फार्मा फैक्टरियों की जांच की गई। पाराशर के मुताबिक, जांच चल रही है लेकिन अभी कुछ हासिल नहीं हुआ है। टीम के लौटन पर ही जानकारी मिलेगी।

प्रमोद मिश्रा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned