भय्यू महाराज की आत्महत्या में हो सकता है नया खुलासा, इस शख्स की भूमिका की हो रही जांच

भय्यू महाराज से जीतू सोनी के थे व्यवसायिक संबंध

By: Muneshwar Kumar

Published: 08 Dec 2019, 03:55 PM IST

इंदौर/ जीतू सोनी को लेकर इंदौर पुलिस हर दिन नए खुलासे कर रही है। जीतू का जाल इंदौर के बाहर भी फैला हुआ है। अब धर्म गुरु भय्यू महाराज की आत्महत्या मामले में भी पुलिस जीतू सोनी की भूमिका तलाश रही है। इस दिशा में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। उम्मीद है कि पुलिस भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में कुछ नया खुलासा करे।

दरअसल, जमीन की जालसाजी समेत कई विवादों की फेहरिस्त में शामिल जितेंद्र उर्फ जीतू सोनी के मामले में पुलिस 360 डिग्री जांच में जुटी है। भूमाफिया बॉबी छाबड़ा से जुड़ाव की जांच के साथ पुलिस ने भय्यू महाराज आत्महत्या मामले की फाइल फिल खोली है। इसमें आत्महत्या की गुत्थी सुलझाने में जीतू की भूमिका निकाली जा रही है। पता चला है कि मामले को रफा-दफा करने और पलक-विनायक-शरद की तिकड़ी को खीखंचों के पीछे पहुंचाने में जीतू का हस्तक्षेप था।

वांटेड जीतू के होटल माय होम से मुक्त कराई युवतियां बोलीं- हमें मिल रही है जान से मारने की धमकी


जांच शुरू
पुलिस अधिकारी ने कहा कि भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में सवाल पर गहनता से विचार कर रहे हैं कि विनायक-पलक-शरद से पूछताछ के आधार पर ही प्रकरण दर्ज किया गया, जबकि अंत में इन्हीं तीनों को आरोपी बनाते हुए जेल भेजा दया। अब चालान पेश कर कोर्ट में ट्रायल चल रहा है।


भय्यू महाराज ने की थी खुदकुशी
भय्यू महाराज ने अपनी रिवॉल्वर से सिर पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। प्रारंभ में तो आर्थिक परेशानियों के चलते आत्महत्या की लाइन पर जांच की गई। इस दौरान सोनी की भूमिका को लेकर लगातार चर्चा रही। जमीन के मामले में जीतू के हस्तक्षेप से ही भय्यू महाराज को अलग किया गया था। बताते हैं कि भय्यू महाराज और सोनी के बीच व्यावसायिक संबंध थे। दोनों का एक दूसरे से मिलना-जुलना था। प्रेम त्रिकोण में आई लड़की पलक, विनायक और शरद भी जीतू सोनी के संपर्क में थे।

Breaking : जीतू पर इनाम एक लाख रुपए करने की तैयारी, धोखे से लिया अखबार का ऑफिस, अब तक 24 FIR दर्ज


जीतू है फरार
अखबार की आड़ में ब्लैकमेलिंग के आरोपी जीतू सोनी अभी फरार चल रहा है। लेकिन उसके ठिकानों पर पुलिस की कार्रवाई जारी है। पुलिस ने उसके मकान और होटल को ध्वस्त कर दिया है। इसके साथ ही इंदौर में यह भी चर्चा रही कि महाराष्ट्र में जीतू ने सरेंडर कर दिया है। हालांकि प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है। पुलिस मुख्यालय ने इसी मामले में इंदौर के एडीजी को हटा दिया है।

Show More
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned