लॉकडाउन पर इंदौरी विधायक ने की प्रधानमंत्री से मार्मिक अपील

बोले - कामकाज बंद होने से खड़ा हो गया संकट, बैंक की किश्तों को दो माह बढ़ाए आगे

इंदौर। कोरोना वायरस के संक्रमण से देश को बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन लॉकडाउन करने का आदेश जारी कर दिया। कामकाज बंद होने के बाद एक बड़े वर्ग के सामने संकट खड़ा हो गया, जिन्होंने बैंकों से लोन ले रखा है। उनकी किश्तों को दो माह आगे बढ़ाने का आग्रह किया है ताकि आम जनता को राहत रहे।

21 दिन काम बंद होने के बाद कई लोगों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया। राशन पानी की समस्या से तो जैसे-तैसे उभर जाएगा, लेकिन आर्थिक तौर पर उसकी कमर टूट जाएगी। हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी कम्पनियों को साफ कर दिया है कि वे किसी भी कर्मचारी का वेतन नहीं काटे संकट की घड़ी में मदद करें। इसके बावजूद उन परिवारों के सामने संकट गहराया हुआ है, जिन्होंने बैंक से लोन ले रखा है। उनकी किश्त एक तारीख को आ जाती है।

उसको देखते हुए विधायक रमेश मेंदोला ने नमो एप पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया है। कहना है कि आपके दृढ़ नेतृत्व में भारत अपनी पूरी शक्ति के साथ कोरोना के संकट से निपटने का प्रयास कर रहा है। आपने जो कदम उठाए है उससे देश के हर व्यक्ति के मन में ये विश्वास जगा है कि भारत की जनशक्ति इस वैश्विक शत्रु को परास्त कर इस लड़ाई को भी जीतेगी, इससे उपजे आर्थिक संकट से भी। इसी विश्वास के साथ मैं किसान, छोटे-मोटे व्यापार-व्यवसाय करने वाले लोग, लघु उद्यमी, काम धंधे और मजदूरी करने वाले लोगों की तरफ से आपसे एक आग्रह कर रहा हूं।

इन लोगों को अपने किसान क्रेडिट कार्ड, होम लोन, ऑटो लोन (टू-फ ोर व्हीलर), पर्सनल लोन, सीसी लिमिट, मॉर्गेज लोन आदि की किश्त और ब्याज की चिंता सता रही है। आप भी इस बारे में चिंतित होंगे ऐसे में मेरा आग्रह है कि कृपया रिजर्व बैंक को निर्देशित करें कि वो सभी बैंक व वित्तीय संस्थाओं को लोन पर मार्च और अप्रैल की किश्त व ब्याज को अगले 12 महीनों की किश्तों में समायोजित करने के निर्देशित करें। इससे बैंक पर कोई अतिरिक्त भार नहीं पड़ेगा। ये उनके लिए एडिशनल एडवांस की तरह होगा और लोगों की चिंता भी मिट सकेगी। इस संबंध में जल्द ही कोई सकारात्मक फैसला लें।

Mohit Panchal Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned