महाकाल एक्सप्रेस में भगवान शिव की रिजर्व सीट पर सियासत, ओवैसी के सवाल पर रेलवे ने दिया ये जवाब

रेलवे की ओर से कहा गया कि, इस व्यवस्था को सिर्फ पहले सफर के लिए लागू किया गया है, ना कि हमेशा के लिए। इसे सिर्फ नए प्रोजेक्ट की सफलता के लिए भगवान शिव के "आशीर्वाद" के तौर पर देखें।

इंदौर/ उज्जैन से वाराणसी और वाराणासी से उज्जैन तीर्थ दर्शन के लिए शुरू की गई देश की तीसरी प्राइवेट ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस ( Kashi Mahakal Express ) में भगवान शिव ( Lord Shiva ) के लिए रिजर्व की गई सीट काे लेकर सियासत शुरू हो गई है। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ( AsadUddin Ovaisi ) ने पीएमओ को ट्वीट करते हुए ट्रेन में शिव मंदिर ( Shiva Temple ) के लिए रिसर्व की गई सीट को लेकर सवाल उठाए। ओवैसी ने अपनी ओर से किये ट्वीट में संविधान की एक कॉपी ( Constitution Book ) भी अटैच की।

हालांकि, इस संबंध में अब तक पीएमओ की ओर से तो कोई प्रतिक्रिया नहीं आई, लेकिन मामले को लेकर आईआरसीटीसी ( IRCTC ) ने सफाई दी है। रेलवे की ओर से कहा गया है कि, इस व्यवस्था को सिर्फ पहले सफर के लिए लागू किया गया है, ना कि हमेशा के लिए। इसे सिर्फ नए प्रोजेक्ट की सफलता के लिए भगवान शिव के "आशीर्वाद" के तौर पर देखें। व्यवसायिक तौर पर इस ट्रेन को 20 फरवरी से यात्रियों के लिए शुरू किया जाएगा, उस दौरान ऐसी कोई सीट आरक्षित या समर्पित नहीं रहेगी।

 

 

पढ़ें ये खास खबर- अनोखी शादी : न लिए सात फेरे, न पहनाया मंगलसूत्र, संविधान की शपथ लेकर दूल्हा-दुल्हन ने की शादी

 


इंदौर पहुची ट्रेन के यात्रियों का भव्य स्वागत

बता दें कि, काशी महाकाल एक्सप्रेस सोमवार सुबह 09 बजे इंदौर पहुंची। इसे 16 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दोपहर 02.45 बजे वाराणसी से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। इंदौर पहुंची ट्रेन का स्टेशन पर यात्रियों का संगीत, फूल-माला के साथ स्वागत किया गया। उत्तर प्रदेश के काशी और मध्य प्रदेश के उज्जैन, ओंकारेश्वर ज्याेतिर्लिंग तीर्थस्थलाें काे जाेड़ने के लिए आईआरसीटीसी की इस निजी ट्रेन के काेच बी-5 में सीट नंबर 64 को बाबा महाकाल के लिए आरक्षित किया गया है। यूं कहें कि, सीट पर मंदिर बनाया गया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब ट्रेन में किसी भगवान के लिए सीट आरक्षित की गई है। ट्रेन में मिलेगा।

 

 

पढ़ें ये खास खबर- नि:संतान दंपती की सूनी गोद भरने के लिए दवा बनवा रही है सरकार

 


इन सुविधाओं से लेस है काशी-महाकाल एक्सप्रेस

काशी महाकाल एक्सप्रेस की खासियत ये है कि इसे यात्रियों के लिए यात्रा के दौरान सभी जरूरी सुविधाओं को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। आईआरसीटीसी IRCTC के अनुसार, काशी-महाकाल एक्सप्रेस के हर यात्री को 10 लाख रुपये का यात्रा बीमा भी उपलब्ध होगा। ट्रेन में वाई-फाई, सीसीटीवी कैमरा, कॉफी मशीन, एलसीडी स्क्रीन, भक्ति संगीत, हर कोच में दो निजी गार्ड और सिर्फ शाकाहारी भोजन की सुविधा है। काशी महाकाल एक्सप्रेस के लिए टिकट की बुकिंग केवल आईआरसीटीसी वेबसाइट और मोबाइल ऐप Irctc Rail Connect के जरिए की जा सकेगी। ट्रेन में 120 दिनों का एडवांस रिजर्वेशन पीरियड होगा।

 

 

पढ़ें ये खास खबर- 8 साल की उम्र से लगाई नशे की लत, फिर देह व्यापार में धकेला, महिला समेत 3 पर केस दर्ज

 

 

ये है काशी महाकाल एक्सप्रेस का किराया

काशी महाकाल एक्सप्रेस का किराया सुविधाओं के आधार पर बांटा गया है। यात्रियों के लिए 6010 रुपये से लेकर 14950 रुपये तक का टिकट सुनिश्चित किया गया है। ट्रेन का किराया-काशी महाकाल एक्सप्रेस को ध्यान में रखते हुए जो टूर पैकेज डिजाइन किया है उसमें आपको को जो टूर पैकेज बुक करते हैं उनमें स्थानीय तौर पर थ्री स्टार होटल में रुकने, सुबह का नाश्ता, दोपहर और रात का खाना और स्थानीय तौर पर धूमने के लिए गाड़ी की सुविधा देने की व्यवस्था भी की गई है। हालांकि, इन टूर पैकेजों में ट्रेन का किराया शामिल नहीं है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned