एक साथ किए 7500 सामायिक

Arjun Richhariya

Publish: Sep, 17 2017 07:11:12 (IST) | Updated: Sep, 17 2017 07:13:59 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
एक साथ किए 7500 सामायिक

एक ही वक्त पर 7500 ने सामायिक साधना कर भक्तों ने केवल अपने आचार्य का जन्मोत्सव अनोखेअंदाज में मनाया

आचार्य शिवमुनि ने कहा कि आत्मा से आत्मा को मिला दे, वहीं आचार्य हैं। मैं आपके बीच महावीर का ज्ञान बांटने के लिए मौजूद हूं, महावीर के ध्यान की शेयरिंग कर रहा हूं, आपको ध्यान रूपी साधना से उसी तरह रिचार्ज कर रहा हूं,

इंदौर. डॉ. शिवमुनि के जन्मोत्सव के दूसरे दिन बारह राज्यों के भक्तजन खेल प्रशाल में दोनों फ्लोर पर एकत्र हुए। सभी गुरुदेव के जन्मोत्सव पर सामायिक करने के लिए उत्साहित थे। सुबह हुए इस आयोजन में पांडाल व सेकंड फ्लोर भी खचाखच भरा नजर आया। इस दौरान आचार्य शिवमुनि ने कहा कि आत्मा से आत्मा को मिला दे, वहीं आचार्य हैं। मैं आपके बीच महावीर का ज्ञान बांटने के लिए मौजूद हूं, महावीर के ध्यान की शेयरिंग कर रहा हूं, आपको ध्यान रूपी साधना से उसी तरह रिचार्ज कर रहा हूं, जिस तरह एक वक्त के बाद मोबाइल को रिचार्ज करने की जरूरत होती है। मैं आपका आप ही से आत्मा के माध्यम से परिचय कराने के लिए मौजूद हूं। श्रमण संघ के प्रमुख मंत्री शिरिष मुनि, प्रवर्तक प्रकाश मुनि, मधुर गीतकार शुभम मुनि आदि ने भी विचार रखें। चातुर्मास समिति प्रमुख डॉ. नेमनाथ जैन, महामंत्री रमेश भंडारी ने बताया सोमवार को आचार्यश्री 75 साल पूरे कर 76वें में प्रवेश कर रहे है। सुबह 6 बजे से ही खेल प्रशाल में आयोजन होंगे। सुबह 9 बजे गुणानुवाद सभा में 5000 श्रावक, श्राविकाएं रहेंगे। आचार्य श्री को संघ इस दौरान ध्यान गुरु से अलंकृत करेगा। मुख्य आयोजन सुबह 11 बजे होगा।


रेसकोर्स रोड स्थित खेल प्रशाल में रविवार को शिवाचार्य समवसरण में श्रावक, श्राविकाओं यानि स्थानकवासी श्रद्धालुओं का मेला लगा गया। सभी आचार्य डॉ. शिवमुनि को जन्मोत्सव के तीन दिनी आयोजन की दूसरी सुबह सामायिक कर भक्तिमय बनाने के लिए जुटे थे। एक ही स्थान पर एक ही वक्त पर 7500 ने सामायिक साधना कर भक्तों ने केवल अपने आचार्य का जन्मोत्सव अनोखेअंदाज में मनाया, बल्कि छुट्टी के दिन, महावीर, अरहिंत, भगवान ऋषभदेव के संदेश अपनाकर जीवन को सार्थकता भी प्रदान की।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned