कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी हिरासत में, जेल के बाहर कांग्रेसियों का हंगामा

गर्मी पास आते ही लोगों को पानी की समस्या का डर सताने लगा है ...

इंदौर. पानी की समस्या और भारी भरकम बिजली बिल के विरोध में पालदा में रहवासियों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी और युवा कांग्रेस अध्यक्ष अमन बजाज को पुलिस ने हिरासत में लेकर जिला जेल भेज दिया है। जेल के बाहर कांग्रेसियों का हंगामा जारी है और पुलिस को उन्हें खदेडऩे के लिए लाठीचार्ज भी करना पड़ा है।

 

aman

गर्मी पास आते ही लोगों को पानी की समस्या का डर सताने लगा है। शहर में कई क्षेत्र ऐेसे हैं जहां मार्च के बाद पानी के लिए बहुत ज्यादा परेशानियां आने लगती हैं। ऐसे में अभी से रहवासियों ने अधिकारियों का इस ओर ध्यान खींचना शुरू कर दिया है।

सोमवार सुबह पालदा में बड़ी संख्या में रहवासी इकट्ठे हुए और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर कांग्रेसी विधायक जीतू पटवारी और युवा कांग्रेस अध्यक्ष अमन बजाज भी पहुंचे और उन्होंने अधिकारियों को मौके पर आने की मांग की। बढ़ती भीड़ और विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने विधायक जीतू पटवारी को हिरासत में ले लिया है। बताया जा रहा है कि यहां की 6 से 7 प्रमुख कॉलोनियों में पानी की भीषण समस्या है। इसके साथ ही ड्रेनेज और सड़क व्यवस्था में भी कई खामियां हैं।

रहवासियों का कहना है कि हम कई बार जोन पर और अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं लेकिन हमारी समस्याओं का कोई हल नहीं हो रहा है। उनका कहना है कि यदि अभी ध्यान नहीं दिया गया तो गर्मी में जीना भी मुश्किल हो जाएगा।

मौके पर पहुंचे कांग्रेसी
इस मौके पर कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने कहा कि सरकार आम लोगों की समस्या को सुनने और हल करने के बजाय सिर्फ आश्वासन से काम चला रही है। सरकार का आम आदमी पर ध्यान ही नहीं है और बात बड़े बड़े निवेशों की हो रही है। यहां लोगों को संबोधित करने के दौरान जीतू पटवारी अधिकारियों को बुलाने की बात भी करते रहे। हालांकि प्रदर्शन के दौरान यहां कोई वरिष्ठ अधिकारी नहीं पहुंचा और लोग हंगामा करते रहे।

बिजली के भारी भरकम बिल से भी परेशान
लोग बिजली के गलत बिल आने से भी परेशान है। स्थानीय लोगों का कहना है कि लागातार गलत बिल आ रहे हैं और कई शिकायतों के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। कुछ जगहों पर तो पहले बिजली के गलत बिल भेजे गए और फिर बाद में बिजली भी काट दी गई। लोगों में इस बात को लेकर बहुत गुस्सा है कि प्रशासन उनकी बुनियादी बातों पर भी ध्यान नहीं दे रहा है।

indore

भगवानसिंह चौहान को धरने में बैठने से रोका
मामला बढ़ते देख भाजपा पार्षद दल के नेता भगवानसिंह चौहान भी धरना स्थल पर पहुंचे और धरने में शामिल होने का प्रयास किया। कांग्रेसियों ने भगवान सिंह चौहान को धरना स्थल से दूर रखते हुए उन्हें धरने में भाग नहीं लेने दिया। कांग्रेसियों की मंशा थी कि रहवासियों की परेशानी पर किए जा रहे इस धरने प्रदर्शन का पूरा श्रेय उन्हें ही मिले।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned