ऐसा क्या हुआ...पहली बार विधायक संजय शुक्ला व विशाल पटेल के घर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया

ऐसा क्या हुआ...पहली बार विधायक संजय शुक्ला व विशाल पटेल के घर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया
ऐसा क्या हुआ...पहली बार विधायक संजय शुक्ला व विशाल पटेल के घर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया

Uttam Rathore | Updated: 16 Sep 2019, 11:09:48 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

हर गुट के नेता को तवज्जो देने से कांग्रेस में हलचल, कार्यकर्ता सम्मेलन में धक्का-मुक्की और अव्यवस्था पर जाहिर की नाराजगी

इंदौर. कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया रविवार को इंदौर में थे। पहली बार विधायक बने संजय शुक्ला और विशाल पटेल के घर पर उनका जाना और हर गुट के नेता को तवज्जो देने के चलते पार्टी में हलचल मच गई है। इसके पर कई मायने निकाले जा रहे हैं। रंगून गार्डन में नेताओं और कार्यकर्ताओं से मेल-मुलाकात के लिए रखे गए कार्यक्रम में अव्यवस्था होने पर वे भड़क भी गए।

नेताओं-कार्यकर्ताओं से मुलाकात के लिए रखे गए कार्यक्रम में हुई धक्का-मुक्की और अव्यवस्था पर सिंधिया ने भड़कते हुए सभी को मंच से उतार दिया। बावजूद इसके कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता नहीं माने। पहली बार सिंधिया पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी गुट के विधायक संजय शुक्ला के घर पहुंचे। यहां काफी देर रुकने के साथ भोजन किया व शुक्ला से चर्चा की। उन्होंने विष्णुप्रसाद शुक्ला से मुलाकात की। इसके बाद बिचौली मर्दाना स्थित देपालपुर विधायक विशाल पटेल के घर पहुंचे, जो दिग्विजय सिंह गुट से हैं। यहां पर भी वे पहली बार गए। इसके बाद पड़ोस में ही रहने वाले पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल, राधेश्याम पटेल और सत्यनारायण पटेल से मुलाकात की। बिचौली मर्दाना में ही पंकज संघवी से मुलाकात की। विधायक शुक्ला और पटेल सहित अन्य नेताओं से मिलने के बाद अपने घोर विरोधी गुट कमल नाथ के करीबी और शहर कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के घर पहुंचे। इतना ही नहीं, बाकलीवाल पूरे दौरे में उनके साथ साए की तरह चले। इस दौरान सिंधिया समर्थक और शहर अध्यक्ष प्रमोद टंडन भी मौजूद थे। सिंधिया पत्रकार शशींद्र जलधारी और कांग्रेस नेता योगेश गेंदर व धर्मेंद्र गेंदर के घर पर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। सिंधिया का हर गुट के नेताओं के यहां जाना कई मायने निकाल रहा है। मानना है कि पिछले दिनों प्रदेश अध्यक्ष को लेकर हुए घमासान के दौरान सिंधिया गुट के नेताओं का खुलकर सामने आना और बयानबाजी करने से पार्टी हाईकमान नाराज हैं, इसलिए अब सिंधिया मेल-मुलाकात के जरिए बैलेंस करने में लगे हैं।

कार्यक्रम की कमान थी करीबी के पास
इधर, सिंधिया की इंदौर यात्रा के चलते रंगून गार्डन में कार्यकर्ता सम्मेलन रखा गया, जो कि अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया। जिन नेताओं के कंधों पर कार्यक्रम की जिम्मेदारी थी, वह व्यवस्था ठीक ढंग से नहीं कर पाए। नतीजतन सिंधिया को धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा। कांग्रेसी गलियारों में चर्चा है कि कार्यक्रम को लेकर जिस पर जिम्मेदारी थी, वह सिंधिया के करीबी और सरकार में अच्छे पद पर है। बावजूद इसके कार्यक्रम फेल हो गया।

सिंधिया ने किया सम्मान
अग्रवाल समाज की संस्था अग्रमंच द्वारा महाराजा अग्रसेन की 5143वीं जयंती महोत्सव के उपलक्ष्य में समाज की उभरती प्रतिभाओं को वृहद मंच प्रदान करने के उद्देश्य से कार्यक्रम आयोजित किया गया। सिंधिया के मुख्य आतिथ्य में यह कार्यक्रम रवींद्र नाट्यगृह में हुआ। इसमें उन्होंने वरिष्ठ समाजसेवियों का सम्मान शॉल-श्रीफल और प्रशस्ति-पत्र देकर किया। इसके साथ ही समाज की प्रतिभाओं को भी सम्मानित किया। इस दौरान कांग्रेस नेत्री अर्चना जायसवाल, विनोद अग्रवाल, शैलेष गर्ग, आशा विजयवर्गीय और आशीष गोयल आदि मौजूद थे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned