आज मालवा दौरे पर 'महाराज', भाजपा के 10 बड़े नेताओं के घर जाएंगे सिंधिया, दूर करेंगे गिले-शिकवे

ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार अपनी पार्टी के कई बड़े नेताओं के घर जाएंगे।

By: Pawan Tiwari

Published: 17 Aug 2020, 07:22 AM IST

इंदौर. कांग्रेस का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज पहली बार इंदौर दौरे पर आ रहे हैं। इंदौर दौरे में ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बदले हुए अंदाज में नजर आएंगे। ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने राजनीतिक जीवन में पहली बार एक साथ कई बड़े नेताओं से मुलाकात करेंगे। 2002 से राजनीति शुरू करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार अपनी पार्टी के कई बड़े नेताओं के घर जाएंगे। राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया अब पैठ बढ़ाने के नए-नए तरीके अपना रहे हैं।

कोरोना काल में परिवार की परंपरा का निर्वहन करते हुए सिंधिया अब राजनीतिक रणनीति भी तैयार कर रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के राजनीतिक जीवन में ये पहला मौका होगा जब वो घर-घर जाकर नेताओं से मुलाकात करेंगे। इससे पहले जब भी सिंधिया इंदौर आते थे तो केवल वो एमपीसीए के सदस्यों से ही मुलाकात करते थे।

इनसे करेंगे मुलाकात
सिंधिया के शेड्यूल के मुताबिक वे पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं के घर जाएंगे। कैलाश से तो उनकी पुरानी अदावत रही है, इसके वाबजूद उनके यहां चाय पीएंगे। साथ ही सांवेर विधानसभा के लिए अपने करीबी मंत्री तुलसी सिलावट की जमीन मजबूत करने स्थानीय कार्यकर्ताओं से बातचीत करेंगे। इसके बाद रणनीति तैयार करेंगे।

परिवार की परंपरा
सिंधिया उज्जैन में बाबा महाकाल की सवारी का रामघाट पर पूजन भी करेंगे। ऐसी परंपरा है कि सिंधिया परिवार का सदस्य उज्जैन में बाबा महाकाल की सावन की आखिरी सवारी का पूजन करते हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया इस परंपरा का निर्वहन करते आ रहे हैं।

सबसे पहले ऊषा ठाकुर से मुलाकात
17 अगस्त को ज्योतिरादित्य सिंधिया दोपहर 1 बजे के करीब इंदौर एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। वहां से सीधे वह महू जाएंगे, जहां शिवराज सरकार में मंत्री ऊषा ठाकुर से मुलाकात करेंगे। उषा ठाकुर से मुलाकात के बाद वह उज्जैन जाएंगे। वहां बीजेपी सांसद अनिल फिजोरिया से मिलेंगे। उसके बाद मंत्री मोहन यादव से भी ज्योतिरादित्य सिंधिया मिलेंगे। उसके बाद शाम को वह महाकाल की शाही सवारी का पूजन कर इंदौर लौट जाएंगे।

बदले-बदले सिंधिया
सिंधिया जिस तरह भाजपा नेताओं के घर-घर जाकर मुलाकात करेंगे इससे साफ है कि वे ग्वालियर-चंबल अंचल की तरह मालवा-निमाड़ में भी अपनी पकड़ और मजबूत करना चाह रहे हैं। सांवेर उपचुनाव में भाजपा से अधिक सिंधिया की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। क्योंकि यहां से उनके करीबी तुलसी सिलावट को उपचुनाव लड़ना है। कांग्रेस से भाजपा में आने के बाद सिंधिया का यह बदला स्वरूप दिखाई दे रहा है। वह कांग्रेस में रहते हुए जब भी इंदौर आते थे तो अधिकतर एमपीसीए सदस्यों से ही मुलाकात करते थे। मंत्री नेताओं के घर सिर्फ खुशी या गम के मौकों पर ही जाते थे। अब करीब छह महीने बाद जब वो भाजपा में हैं तो पहली बार इंदौर आ रहे हैं। इसके साथ ही सिंधिया पहली बार एक साथ 10 बड़े नेताओं से मुलाकात करेंगे।

Jyotiraditya Scindia
Show More
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned