कैलाश ने दी इंदौर में आग लगाने की धमकी, पुलिस ने किया हिंसा उकसाने का केस दर्ज, कांग्रेस ने बांटी कैलाश छाप माचिस

अंजाम: विजयवर्गीय ने माफिया के खिलाफ कार्रवाई रुकवाने के लिए अफसरों को दी थी इंदौर में आग लगाने की धमकी
सांसद लालवानी, विधायक मेंदोला, हार्डिया व भाजपा अध्यक्ष नेमा सहित 350 बने आरोपी
34 घंटे बाद रात 10 बजे इंदौर पुलिस ने की एफआईआर, तहसीलदार बने फरियादी

इंदौर. भाजपा महाचिव कैलाश विजयवर्गीय के माफिया के खिलाफ कार्रवाई रुकवाने के लिए इंदौर में आग लगाने की धमकी देने के 34 घण्टे बाद आखिरकार प्रशासन ने कार्रवाई की। संयोगितागंज पुलिस ने कैलाश विजयवर्गीय, सांसद शंकर लालवानी, विधायक रमेश मेंदोला, महेन्द्र हार्डिया और नगर भाजपा अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा सहित 350 लोगों के खिलाफ बलवा करने के मकसद से भीड़ एकत्र करने, हिंसा के लिए उकसाने, भडक़ाऊ भाषण देने और निषेधाज्ञा का उल्लंघन के आरोप का मामला दर्ज किया है।

तहसीलदार राजेश कुमार सोनी की शिकायत पर दर्ज प्रकरण में आरोप है कि विजयवर्गीय के नेतृत्व में लोग संभागीय आयुक्त आकाश त्रिपाठी के बंगले के बाहर धरना प्रदर्शन करने बैठ गए। एडीएम बीएस तोमर ने उन्हें समझाया कि शहर में धारा 144 लागू है। इस पर विजयवर्गीय एवं भीड़ उनसे विवाद करने लगी। पुलिस अब मामले की पड़ताल में जुटी है। इससे पहले इस मुद्दे पर दिनभर प्रदेश की सियासत उबाल पर रही। कांग्रेस और भाजपा सीधे आमने-सामने आ खड़े हुए हैं। कांग्रेस ने विजयवर्गीय को राजनीतिक माफिया की संज्ञा तक दे डाली।

कैलाश ने दी इंदौर में आग लगाने की धमकी, पुलिस ने किया हिंसा उकसाने का केस दर्ज, कांग्रेस ने बांटी कैलाश छाप माचिस

कैलाश छाप माचिस बांटकर कांग्रेस नेताओं ने जताया विरोध
इंदौर में शनिवार को कांग्रेस नेताओं ने कैलाश छाप माचिस बांटकर प्रतिकात्मक विरोध किया। इस दौरान विजयवर्गीय के शहर में आग लगाने वाले बयान के खिलाफ नारेबाजी भी की।

लिस्टेड गुंडे ‘नाना’ का अवैध फॉर्म हाउस पौने छह घंटे में जमींदोज
-माफिया उन्मूलन शद तो बहुत अच्छा है। कांग्रेस अगर ईमानदारी से इसका पालन करें तो भाजपा हर कदम पर साथ है। लेकिन इसकी आड़ में सिर्फ भाजपा के कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई करना गलत है।
-राकेश सिंह, प्रदेशाध्यक्ष भाजपा

कैलाश ने दी इंदौर में आग लगाने की धमकी, पुलिस ने किया हिंसा उकसाने का केस दर्ज, कांग्रेस ने बांटी कैलाश छाप माचिस

कार्रवाई गलत
-माफियाओं पर कार्रवाई से भाजपा घबराई हुई है, इसीलिए उनके नेता इंदौर जैसे खूबसूरत शहर को आग लगाने की बात कर रहे हैं। इस सरकार में किसी भी तरह की हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
-पीसी शर्मा, मंत्री

हिंसा बर्दाश्त नहीं
-कैलाश विजयवर्गीय हताश से भरे और भटके हुए नेता हैं। नियम और कानून तोडऩे वाले सभी लोगों पर सरकार को व्यापक और कठोरतम कार्रवाई करनी चाहिए।
दिग्विजय सिंह, पूर्व मुयमंत्री

-कैलाश ने लोकतंत्र के बचाने को आक्रोश व्यक्त किया। मालवी बोली में प्रतीकात्मक तौर पर आग लगाने की उपमा देते हैं। यह आंदोलन को व्यापक फैलाने का प्रतीक है।
रमेश मेंदोला, भाजपा विधायक

कैलाश ने दी इंदौर में आग लगाने की धमकी, पुलिस ने किया हिंसा उकसाने का केस दर्ज, कांग्रेस ने बांटी कैलाश छाप माचिस

इन धाराओं में किया मुकदमा

धारा: 143 व 149 अवैध भीड का हिस्सा होना
दंड : 6 माह की जेल
धारा: 506 आग से जलाने की धमकी देना
दंड : 7 वर्ष तक की सजा
धारा: 153 उपद्रव फैलाने की कोशिश, भडकाऊ भाषण देना
दंड: एक वर्ष का कारावास

मुख्यमंत्री बोले

माफिया के आगे झुकना मत, चाहे कैसा भी दबाव आए

भोपाल. कैबिनेट बैठक में सीएम कमलनाथ ने अपने मंत्रियों को एक बार फिर दो टूक शब्दों में समझाया है कि माफिया के आगे किसी कीमत पर झुकना नहीं है। सभी अफसरों को फिर साफ कह दो, चाहे किसी भी स्तर से दबाव आए, चाहे माफिया कोई भी हो, उसके खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होनी चाहिए। पंद्रह साल में जो माफिया पनपा है, उसे ध्वस्त करना पहला लक्ष्य है। असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई होनी चाहिए। माफिया से जुड़े लोगों को परेशानी होती है तो होने दें। उन्होंने कहा कि मंत्री अपने-अपने लक्ष्य बनाकर दें कि क्या-क्या काम करेंगे। माफिया के खिलाफ कार्रवाई भी बताएं कि किन पर कार्रवाई करेंगे। लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि टोल माफिया पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी। इस पर सीएम ने कहा कि अब हर मंत्री एशन मोड में दिखना चाहिए।

रीना शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned