कैलाश का नया दांव, भोपाल में छेड़ दिया दूसरा राग

रायशुमारी में रखा था उमेश शर्मा का नाम, अब जीतू जिराती या गौरव रणदिवे

By: Mohit Panchal

Updated: 03 Dec 2019, 10:50 AM IST

इंदौर। नगर व जिला भाजपाध्यक्ष को लेकर स्थानीय स्तर पर रायशुमारी हो गई, अब गेंद राजधानी में है। जिला भाजपा हाथ से जाने के बाद राष्ट्रीय महासचिव अब नगर को अपने कब्जे में चाहते हैं। इसके चलते उन्होंने जीतू जिराती और गौरव रणदिवे के नाम का राग छेड़ा है।

जिला अध्यक्षों की घोषणा से पहले जिलों के प्रमुख नेताओं से बात की जाएगी। विवाद से बचने के लिए संतुलन बनाया जा सके। इंदौर में लंबे समय से जिला व नगर अध्यक्षों का बंटवारा सुमित्रा महाजन व कैलाश विजयवर्गीय के बीच कर दिया गया। ग्रामीण क्षेत्र में पूर्व विधायक मनोज पटेल के पक्ष में एकतरफा रायशुमारी हुई। यहां पर विजयवर्गीय चाहते थे कि उनके समर्थक चिंटू वर्मा अध्यक्ष बनें।

जिला हाथ से निकल जाने के बाद अब उनकी निगाह नगर पर है। वे चाहते हैं कि शुद्ध रूप से उनका खास ही इस जगह काबिज हो। रायशुमारी में उन्होंने उमेश शर्मा का नाम रखवाया, लेकिन भोपाल जाने के बाद अब सुर बदले हुए हैं। वे चाहते हैं कि जीतू जिराती या गौरव रणदिवे में से कोई एक बने। हालांकि दोनों का नाम रायशुमारी में न के बराबर रखा गया।

भगत की भी इंदौर में विशेष रुचि
इंदौर को लेकर प्रदेश भाजपा संगठन महामंत्री सुहास भगत की भी विशेष रुचि है। वे यहां पर नजर रखे हुए हैं। इसके चलते पूर्व में ही वे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को साफ कर चुके हैं कि इंदौर को वे देखेंगे। वहीं, भगत के विजयवर्गीय से भी मजबूत संबंध हैं। ऐसे में आखिरी समय में संतुलन का बहाना बनाकर वे विजयवर्गीय की पसंद को तवज्जो दे सकते हैं।

योजना से हो रहा विद्रोह
रायशुमारी में दो नंबरी खेमे ने दिखावे के लिए उमेश शर्मा का नाम मजबूती से रखा। इसके बाद अब बड़ी ही योजना से अपने ही खेमे से विद्रोह करवाया जा रहा है। कुछ नेता तो खुलकर शर्मा के नाम का विरोध करने में लग गए हैं ताकि बड़े नेताओं को बताने के लिए हो जाए कि देखो तुम्हारे कारण यहां पर कितना बवाल हो रहा है। नाराज होने वाले अधिकतर नेता विजयवर्गीय की गुड लिस्ट के हैं।

Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned