शनिदेव बने नन्हे कार्तिकेय से सीखिए टाइम मैनेजमेंट, शूटिंग के समय करते हैं ऑनलाइन पढ़ाई

शनिदेव बने नन्हे कार्तिकेय से सीखिए टाइम मैनेजमेंट, शूटिंग के समय करते हैं ऑनलाइन पढ़ाई

amit mandloi | Publish: May, 06 2017 10:55:00 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

शो में सूर्यदेव की भूमिका निभा रहे सलील अंकोला और महादेव का किरदार निभाने वाले तरुण खन्ना के साथ शहर में थे। तीनों कलाकारों ने शहर के प्राचीन शनि मंदिर में अभिषेक किया और इसके साथ ही फैंस से भी मिले।  

इंदौर . मैंने अपनी एक्टिंग के बेसिक्स मम्मा से सीखे हैं। वह भरतनाट्यम करती है जो कि पूरी तरह से एक्सप्रेशन पर बेस्ड होता है। ऐसे ही स्क्रिप्ट को फील कर अपने एक्सप्रेशन को चैंज करने की ट्रेनिंग उन्होंने मुझे दी। 

यह कहना है कलर्स के कर्मफल दाता शनि में शनि का किरदार निभा रहे 12 वर्षीय कार्तिकेय मालवीय का। वह शुक्रवार को शो के प्रमोशन के लिए शो में सूर्यदेव की भूमिका निभा रहे सलील अंकोला और महादेव का किरदार निभाने वाले तरुण खन्ना के साथ शहर में थे। तीनों कलाकारों ने शहर के प्राचीन शनि मंदिर में अभिषेक किया और इसके साथ ही फैंस से भी मिले।  

सेट पर स्पेशल ट्यूटर

कार्तिकेय ने कहा कि यह शो मेरे लिए स्कूल से कम नहीं है। इसमें काम करने के बाद मैंने  किसी भी काम को करने के लिए पेशेंस रखना और किसी भी परिस्थित में खुद को शांत रखना अच्छे से सीख लिया है। 8वीं पास कर 9वीं में पहुंचे कार्तिकेय ने कहा कि शो में काम करने के कारण मैंने अपनी पढ़ाई पर इफेक्ट नहीं पडऩे नहीं दिया है। प्रोडक्शन हाउस ने मेरे लिए सेट पर स्पेशल ट्यूटर लगा रखा है जो कि जब भी शूटिंग से जब भी थोड़ा सा टाइम मिलता है तो मुझे पढ़ाते हैं। इसके साथ ही मैं अपने दोस्तों और टीचर्स के साथ ऑनलाइन भी पढ़ाई करता हूं।

पहननी पड़ती है 35 किलो की ड्रेस  

पूर्व क्रिकेटर सलील अंकोला ने कहा कि इस शो में सूर्य का किरदार निभाने के लिए दो बड़े चैलेंज थे मेरे सामने पहला तो शो में एक्टिंग के लिए 35 किलो की ड्रेस और 7 किलो की ज्वेलरी पहननी पड़ती है। जिसे पूरे दिन पहनकर शूटिंग करना काफी मुश्किल हो जाता है। वही दूसरा चैलेंज यह था कि शो के सभी डॉयलाग शुद्ध हिंदी में है जबकि मैं मुम्बई की हिंदी बोलता था। ऐसे में यह मेरे लिए बड़ा चैलेंज था, पर इसे मैंने वाइफ के साथ मिलकर अपनी इस कमजोरी को दूर कर लिया है। मैं चाहता तो स्क्रिप्ट को पढ़कर भी डायलॉग बोल सकता था पर शायद उससे मैं  वह एक्सप्रेशन नहीं दे पाता जो डायरेक्टर को चाहिए। 

प्रेमिका जैसे आडियंस

शो में भगवान शिव का किरदार निभा रहे तरुण खन्ना ने कहा कि एक एक्टर को ऑडियंस की पसंद का ख्याल ठीक उसी तरह रखना पड़ता है जैसे कि एक प्रेमी अपनी प्रेमिका का रखता है। उन्होंने कहा कि एक अच्छा एक्टर वही है जो कि इमोशंस को अच्छे से एक्सप्रेस कर सकें और स्क्रिप्ट को फील कर उसमें बदलाव के सजेशन दे सके। इसके साथ ही कलाकार के अंदर बच्चे की क्वालिटी भी होनी चाहिए कि वह पल-पल अपना मूड बदल सकें। 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned