शाही सवारी में शामिल होगी महाकाल की सेना

भजन मंडली और आदिवासी नृत्य छंटा बिखेरेगी। 1000 महिलाएं कलश लेकर चलेगी।

इंदौर. सामाजिक संस्था श्री गणेश्वरी के तत्वावधान में भगवान श्री गणेश के प्राक्टयोत्सव पर 13 जनवरी को खजराना गणेश की शाही सवारी का आयोजन किया जा रहा है। इस में उज्जैन से महाकाल की सेना और महाकाल की शाही सवारी में चलने वाली महाकाल की तोप भी शामिल रहेगी। श्री गणेश्वरी के अध्यक्ष जय वर्मा ने बताया कि 13 जनवरी को शाम 4 बजे श्री गोपाल मंदिर कुटिया, श्रीनगर पलासिया से यह सवारी प्रारंभ होगी। सवारी श्रीनगर, आनंद बाजार होते हुए खजराना मंदिर मुख्य मार्ग से होते हुए श्री खजराना गणेश मंदिर पर पहुंचेगी। इस सवारी में बैंड-बाजा, ढोल-ताशा के साथ ही हाथी, घोड़े, बग्गी आदि शामिल रहेंगे। श्री सवारी में एक पालकी में भगवान श्री गणेश सवार रहेंगे। इस पालकी को भक्तजन लेकर चलेंगे। मार्ग में स्थान-स्थान पर इस पालकी का पूजन किया जाएगा। सवारी में भाग लेने के लिए झाबुआ से आदिवासियों का नृतक दल भी आ रहा है। वर्मा ने बताया, हर वर्ष सावन मास में उज्जैन में भगवान महाकाल की शाही सवारी निकलती है, इस सवारी में सभी के आकर्षण का केन्द्र महाकाल सेना और कडाबिन की तोप होती है। महाकाल सेना में भूत-प्रेत के भेष में व्यक्ति होते हैं, जबकि कड़ाबिन की तोप पुरे सवारी मार्ग पर चलती है और धमाके की आवाज होती है। शाही सवारी के दोनो आकर्षण इंदौर में इस श्री गणेश सवारी में शामिल होंगे। इस सवारी को भगवान श्री खजराना गणेश की शाही सवारी के रूप में आयोजित किया जा रहा है। इस आयोजन का यह 17वां वर्ष है।

shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned