खंडवा-अकोला ट्रैक बंद होने से बसों में महंगे सफर को मजबूर

खंडवा-अकोला ट्रैक बंद होने से बसों में महंगे सफर को मजबूर

Reena Sharma | Publish: May, 16 2019 12:12:15 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

पहले खंडवा-इंदौर के बीच करीब 70 और बुरहानपुर तक 20 बसें संचालित होती थीं

इंदौर. इंदौर से खंडवा-अकोला ट्रैक बंद होने से बस का ही विकल्प होने से यात्री पांच गुना राशि अदा कर यात्रा करने को मजबूर हैं। इंदौर से खंडवा तक टे्रन में 30 रुपए में यात्रा हो जाती थी, अब 130 रुपए चुकाना पड़ रहे हैं। पश्चिम रेलवे द्वारा तीन साल पहले 1 जनवरी को ट्रैक बंद करने के दौरान अधिकारियों ने इसे 2020 तक पूरा करने का दावा किया था, मगर खंडवा से सनावद तक का ही काम पूरा नहीं हो पाया। वहीं महू से सनावद तक काम करने में कितना और समय लगेगा रेलवे अधिकारी यह बताने में असमर्थ हैं। महू से सनावद तक मीटरगेज ट्रैक 64 किमी का है, जो ब्रॉडगेज बनने के बाद 85 किमी हो जाएगा।

ट्रैक बंद होने के बाद बढ़ गई बसें

पहले खंडवा-इंदौर के बीच करीब 70 और बुरहानपुर तक 20 बसें संचालित होती थीं। ट्रैक बंद होने के बाद तीन साल में 130 से अधिक बसें चलने लगी हैं। कुछ बसें तो दो फेरे तक लगाती हैं। ट्रैक का काम शुरू करने के लिए कई बार रेलवे संगठनों ने ज्ञापन भी दिए, लेकिन रेलवे ने स्पष्ट जवाब नहीं दिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned