युवती के साथ छात्र के रूम पर पहुंचा बदमाश, दरवाजा खुलते ही किया चाकू से वार

भंवरकुआ थाना क्षेत्र का मामला,छात्र का आरोप है डॉयल 100 पर सूचना देने पर भी कोई मदद नहीं मिली

 

INDORE युवती के साथ छात्र के रूम पर पहुंचे एक बदमाश ने दरवाजा खुलते ही चाकू से वार कर दिया। हमले में छात्र के दोनों हाथ चोटिल हो गए। घटना से छात्र व उनका छोटा भाई घबरा गए। दोनों कुछ समझ पाते इतने में हमलावर बदमाश धमकी देते हुए युवती के साथ भाग गया। छात्र का आरोप है डॉयल 100 पर सूचना देने पर भी कोई मदद नहीं मिली। खून अधिक बहने पर वे भाई व अन्य साथियों के साथ उपचार कराने अस्पताल पहुंचे। मामले में पुलिस ने उनके बयान लिए है।

दरअसल, खंडवा रोड स्थित रानी विहार कॉलोनी में रविंद्र पिता हरिलाल गुरुवार रात एमवाय हॉस्पिटल में उपचार कराने पहुंचे थे। उनके एक हाथ से खून बह रहा था। तो दूसरे में अंदरूनी चोट थी। रविंद्र ने बताया कि वे कॉलोनी में किराए के कमरे में रहकर पीएससी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है। उनके साथ छोटा भाई रहता है। वह स्कूल में पढ़ता है। रात करीब साढ़े दस बजे एक बदमाश ने उनके कमरे का दरवाजा ठोंकना शुरू किया। दरवाजे के बाहर किसी के होने पर उन्होंने उसे खोल दिया। वे कुछ समझ पाते इतने में छह फीट लंबा बदमाश, जिसके लंबे बाल थे। उसने चाकू निकाल गर्दन पर अड़ा दिया। बदमाश ने रूम में रखी कुर्सी पर लात भी मारी। रविंद्र ने बताया बदमाश की इस हरकत को देख उन्होंने खुद को बचाने का प्रयास किया। झूमाझटकी करते हुए उन्होंने अपनी गर्दन से चाकू हटाया। जिससे उनके अंगूठे और अंगूली के बीच गंभीर चोट पहुंची। एक हाथ में अंदरूनी चोट आने से काफी दर्द होने लगा। तब उन्होंने देखा की बदमाश के साथ एक युवती भी उनके रूम में पहुंची। उसने चेहरे पर कपड़ा बांध रखा था। बदमाश उसे भी धमकाने लगा। संभवत: हमलावर नशे में था। वह धमकी देते हुए युवती को स्कूटी पर बैठाकर भाग गया।

डॉयल 100 पर दो बार मांगी मदद, जबाव आया धैर्य रखो आ रहे हैं

छात्र रविंद्र ने बताया, बदमाश के भाग जाने के बाद हम सोचते रहे की आखिर उन पर हमला क्यों हुआ। उनका किसी से कोई विवाद नहीं। हमले में हाथ में खून बहने पर रविंद्र ने डॉयल 100 पर दो बार फोन कर मदद मांगी। आरोप है कि सूचना के बाद भी कोई पुलिस वाला नहीं पहुंचा। डॉयल 100 पर बातचीत के दौरान उन्हें धैर्य रखो आ रहे हैं, जैसी बात कही गई। हाथ से खून अधिक बहने पर वे भाई व साथियों के साथ उपचार कराने एमवाय हॉस्पिटल पहुंचे। बदमाश के चाकू से अंगूठे और अंगूली के बीच गंभीर चोट आई। डॉक्टर ने दस टांके लगाए हैं। वहीं दूसरा हाथ में दर्द है। घटना की सूचना मिलते ही झाबुआ में रहने वाले परिजन थाने पहुंचे। वे उन्हें घर ले गए। उनका कहना है कमरे में हुई चाकूबाजी की घटना से पास में रहने वाले अन्य छात्र भी चले गए हैं। वहीं भंवरकुआ टीआइ संजय शुक्ला ने घटनाक्रम की जांच करने की बात कही है।

Krishnapal Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned