देखिए लाइव हत्या : चाकूओं से गोदकर युवक को उतारा मौत के घाट

छत्रीपुरा थाना क्षेत्र में लगातार वारदातें बढ़ रही हैं, पुलिस सुस्त है। आचार संहिता की सख्ती और चौराहे-चौराहे पर चेकिंग के बीच कल लाबरिया भेरू की कलाली के बाहर 18 वर्षीय युवक की हत्या हो गई।

By: Krishnapal Singh

Published: 26 Oct 2018, 03:41 PM IST

Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

इंदौर. छत्रीपुरा थाना क्षेत्र में लगातार वारदातें बढ़ रही हैं, पुलिस सुस्त है। आचार संहिता की सख्ती और चौराहे-चौराहे पर चेकिंग के बीच कल लाबरिया भेरू की कलाली के बाहर 18 वर्षीय युवक की हत्या हो गई। खास बात यह रही कि हत्या के करीब दो घंटे बाद थाना प्रभारी मृतक के परिजनों से मिलने एमवायएच पहुंचे। इसके पूर्व एडिशनल एसपी, सीएसपी वहां पहुंच चुके थे।
मल्हारगंज थाना क्षेत्र के पीलियाखाल मे रहने वाला प्रदीम उर्फ पम्मी गोखले 18 अपने मित्र तरूण व अन्य के साथ कल लाबरिया भेरू की कलाली पर शराब पीने गया था। इसी दौरान यहां अन्य युवकों से उसका विवाद हो गया और वह इतना बढ़ा कि उन्होंने पम्मी पर चाकू से हमला कर दिया। हमले में पम्मी को पांच से अधिक घाव आए। वह काफी देर तक स्पॉट पर पड़ रहा। बताते हैं कि उसके साथ गए तरूण ने भी अधिक शराब पी ली थी, इसलिए वह भी उसे संभालने के बजाए भाग गया। ज्यादा खून बह जाने से मौके पर ही पम्मी की मौत हो गई। रात करीब 11.30 बजे उसका साथी तरूण मौके पर लौटा और उसे एमवायएच लेकर आया। डॉक्टरों ने चेकअप कर उसे मृत घोषित कर दिया।

डीआईजी ने भेजे अधिकारी
हत्या छत्रीपुरा थाना क्षेत्र में हुई थी। यहां के थाना प्रभारी और अन्य अफसरों को इसकी जानकारी ही नहीं थी। ना ही बीट के ही पुलिसकर्मियों को इसकी खबर थी कि हत्या हो गई है। मृतक के परिजन भी सीधे अस्पताल पहुंचे। यहां मीडिया से डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा को हत्या की जानकारी मिली तो उन्होंने अफसरों से पूछताछ की। इसके बाद एडिशनल एसपी गुरूप्रशाद पाराशर, सीएसपी डीके तिवारी, भंवरकुआ थाना प्रभारी संजय शुक्ला टीम के साथ मौके पर पहुंचे। हत्या रात करीब 11 बजे हुई, जबकि थाना प्रभारी शैलेंद्रसिंह जादौन रात 12 बजकर 50 मिनिट पर एमवायएच अस्पताल पहुंचे। यहां एडिशनल एसपी ने चुटकी भी ली कि उन्हें तो मीडिया से पता चल रहा है कि क्षेत्र में हत्या हो गई।
छत्रीपुरा थाना क्षेत्र की पुलिस कितनी सक्रिय है, इसका पता इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके पूर्व हुई एक हत्या के आरोपित भी अब तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं। पुलिस अब तक आरोपितों की जानकारी नहीं निकाल पाई कि यहां दूसरी हत्या हो गई। एडिशनल एसपी गुरूप्रसाद पाराशर ने एमवाय पहुंचने के बाद एक टीम को सीसीटीवी खंगालने में लगाया। रात में ही जांच की गई तो सामने कुछ बदमाश संदिग्ध भागते हुए दिखे। इसके बाद घेराबंदी कर उन्हे पकड़ा गया।

देर रात पकड़ाए आरेापी
आचार संहिता के चलते हुई हत्या के बाद पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए सीसीटीवी के आधार पर आरापियों की तलाश देर रात शुरू की। इनमें सबसे पहले राहुल नामक बदमाश को पकड़ा गया। जिसने हत्या करना कबूला। इसके बाद पुलिस ने संजय नितिन, गौपाल, शुभम व मधु को भी पुलिस ने पकड़ा। सभी आरोपितों की देर रात गिरफ्तारी हो गई।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned