महिलाओं ने मिलकर सरकारी स्कूलों में प्राइवेट की तरह बना दी शानदार लाइब्रेरी

महिलाओं ने मिलकर सरकारी स्कूलों में प्राइवेट की तरह बना दी शानदार लाइब्रेरी

Hussain Ali | Publish: Apr, 23 2019 04:12:08 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

महिलाओं ने मिलकर सरकारी स्कूलों में प्राइवेट की तरह बना दी शानदार लाइब्रेरी

इंदौर. प्रदेश के सरकारी स्कूलों के हालात किसी से छिपे नहीं हैं। कई स्कूलों में शिक्षकों की कमी है तो कहीं पर बच्चों को कॉपी-किताबें भी नहीं मिल पाती है। ऐसे में शहर की महिलाओं ने बीड़ा उठाया और तीन सरकारी स्कूलों में प्राइवेट स्कूलों की तरह शानदार लाइब्रेरी शुरू कर दी है।

आमतौर पर सरकारी स्कूलों में लाइब्रेरी नहीं होती है, लेकिन शहर की महिलाओं का एक संगठन फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन इन्हें ये सौगात दे रहा है। शहर के सात स्कूलों में लाइब्रेरी हॉल बनाया जा रहा है। यहां बच्चों के लिए किताबों के साथ अन्य व्यवस्था जुटाई गई है। संस्था की सदस्यों ने ‘इच वन-टीच वन’ का संकल्प ले रखा है, उसी के तहत लाइब्रेरियां बनाई जा रही है। संस्था ने तीन स्कूलों में लाइब्रेरी शुरू कर दी है, बाकी चार का काम चल रहा है।

सर्वसुविधायुक्त लाइब्रेरी

स्कूलों की लाइब्रेरी में किताबें तो हैं ही, साथ में अन्य व्यवस्था भी संस्था ने जुटाई हैं। सर्वसुविधायुक्त लाइब्रेरी हॉल बनाकर स्कूल को दिया गया है। किताब रखने के लिए हॉल में रेक लगाई गई है। साथ ही बच्चे लाइब्रेरी में आराम से बैठकर किताबें पढ़ सके इसलिए टेबल-कुर्सियों को इंतजाम भी किया गया है। हॉल को आकर्षक बनाने के लिए दीवारों पर पेटिंग भी कराई गई है। लाइब्रेरी में सामान्य ज्ञान की किताबों के साथ विज्ञान, इतिहास, भूगोल, ङ्क्षहदी और इंग्लिश की किताबें रखी गई है।

सभी स्कूलों को देंगे सौगात

ग्रुप की रेखा मेहता ने बताया कि हम स्कूलों की डिमांड के अनुसार लाइब्रेरी बना रहे हैं। हमने इस साल ‘इच वन-टीच वन’ का संकल्प लिया था। इस काम में संस्था के सदस्य व अन्य संस्था सहयोग कर रही हैं। सात लाइब्रेरी से करीब पांच हजार बच्चे लाभांवित होंगे। शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सभी सरकारी स्कूलों में लाइब्रेरी बनाने की योजना है। हाथीपाला, बक्षीबाग, ग्रीन पॉर्क कॉलोनी, राजेन्द्र नगर, मोती तबेला, बाराभाई और सिंधी कॉलोनी के स्कूलों में लाइब्रेरी की सुविधा दी जा रही है। सरकारी स्कूल के बच्चों को पढ़ाई के साथ अन्य ज्ञान भी मिले और किताबों की कमी पढ़ाई में बाधा न बने इसलिए लाइब्रेरी बनाई जा रही है। हमारी संस्था कई सालों से महिला सशक्तिकरण के लिए काम कर रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned