जिला कोर्ट के बाहर फिर से आमरण अनशन पर बैठे वकील

बोले - इस बार जब तक सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आएंगे, तब तक मेरा धरना जारी रहेगा।

By: हुसैन अली

Published: 01 Jul 2019, 05:24 PM IST

इंदौर. प्रदेश में एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की मांग को लेकर जिला बार एसोसिएशन के सदस्य एडवोकेट विशाल रामटेके तीन दिन से आमरण अनशन पर हैं। बीती रात भी उन्होंने जिला कोर्ट के बाहर अपनी कार में बिताई और सुबह होते ही फिर धरने पर बैठ गए। उनके समर्थन में अन्य वकील भी उनसे मिलने आते रहे।

must read : सडक़ पर महिला का शव, पास में बीड़ी फूंकता पुलिसकर्मी, बोला- वीडियो बनाने वाले को लग जाए मेरी उम्र

गौरतलब है कि प्रदेश की पूर्व भाजपा सरकार और वर्तमान कांग्रेस की सरकार एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की बात कह चुकी है, लेकिन न तो पिछली सरकार में इसे लागू किया गया न वर्तमान में लागू किया जा रहा है। इसके लिए रामटेके पूर्व में भी धरना दे चुके हैं। रामटेके ने बताया कि वर्ष 2016 में जब मैंने आमरण अनशन किया था, तब हमारे राज्य अधिवक्ता परिषद के सदस्यों ने इसे जल्द लागू करने की बात पर अनशन खत्म करवाया था।

must read : महिला कंपाउंडर बोली- गलत हरकत के केस में फंसा दूंगी तो डॉक्टर ने खा ली नींद की 50 गोली

इसके बाद भी दो से तीन बार अनशन किया, हर बार आश्वासन ही दिया गया, लेकिन इस बार जब तक सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आएंगे, तब तक मेरा धरना जारी रहेगा। रामटेके का कहना है कि जब भी किसी वकील के साथ मारपीट होती है, राज्य अधिवक्ता परिषद के आह्वान पर हम कार्य से विरत रहकर प्रदर्शन करते हैं और बात खत्म हो जाती है। अब तक एक्ट लागू करने के लिए कोई बड़ी पहल नहीं हुई, जिसके चलते मुझे फिर धरना देना पड़ा है। मेरा यह आमरण अनशन अनिश्चितकालीन है जो जारी रहेगा।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned