आयोग की सख्ती से कम हुए उम्मीदवार, मतदान प्रतिशत बढ़ा

आयोग की सख्ती से कम हुए उम्मीदवार, मतदान प्रतिशत बढ़ा

amit mandloi | Publish: Oct, 11 2018 04:16:04 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

- प्रदेश में बीते चुनाव तक उम्मीदवारों की संख्या आधी के बराबर रही

इंदौर. चुनाव आयोग निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए लगातार नए नियमों के साथ नई तकनीक अपना रहा है। आधुनिक ईवीएम के साथ मोबाइल एेप इस चुनाव में पहली बार प्रयोग किए जा रहे हैं। प्रदेश में १८ साल पहले हुए चुनाव के मुकाबले बीते चुनाव तक उम्मीदवारों की संख्या आधी के बराबर रही। मतदाताओं का प्रतिशत साल दर साल बढ़ा है। इसकी वजह चुनाव आयोग द्वारा लगातार सख्त नियम बनाने और मतदान की पारदर्शिता के साथ जमानत राशि बढ़ाना भी रहा। पहले १२५ से लेकर २५० रुपए जमानत राशि होती थी, लेकिन अब राशि आरक्षित वर्ग के लिए पांच हजार और सामान्य के लिए १० हजार है। प्रदेश में बीते चुनाव में ८२ प्रतिशत प्रत्याशियों की जमानत जब्त हुई थी। औसतन प्रदेश में ७२ फीसदी उम्मीदवारों की जमानत जब्त होती है।

इस बार यह नया
- नई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वोटर वेयरीफायबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) से होंगे चुनाव।

- खुद के साथ पत्नी की आय का स्रोत भी बतना होगा प्रत्याशियों को।
- ट्वीट, फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया खातों की जानकारी भी देना होगी।

- नो ड्यूज (कोई बकाया नहीं) होने का प्रमाण पत्र भी जमा करना होगा।
- बैंक में नया खाता खोल नामांकन पत्र शुल्क से लेकर अन्य खर्चे इसी से करने होंगे।

- नए बैंक खाते में चुनावी चंदा जमा करना होगा। २० हजार से ज्यादा नकदी खर्च नहीं।
चुनाव वर्ष और प्रदेश में प्रत्याशियों की संख्या

२०१३- २५८५
२००८- २१७१

१९९८- २५१०
१९९३- ३७२९

१९९०- ४२१६
वर्ष २०१३ में इंदौर के प्रत्याशी

विधानसभा-प्राप्त-वापस-कुल

देपालपुर- १२-०-२-१०
एक नंबर- २१-७-४-१०

दो नंबर- ११-१-१-९
तीन नंबर-१९-०-५-१४

चार नंबर-११-२-३-६
पांच नंबर-२१-३-१-१७

महू-१३-१-२-१०
राऊ-९-१-२-६

सांवेर-८-१-०-७

प्रदेश में मतदान प्रतिशत
वर्ष- प्रतिशत

२०१३- ७२.६९
२००८- ६९.५२

१९९८- ६०.२१
१९९३- ६०.१७

१९९०- ५४.२१
१९८५- ४९.७९

प्रदेश में निरस्त मतों का प्रतिशत
वर्ष- प्रतिशत

२०१३- ०.०६
२००८- ०.०६

२००३- ०.०४
१९९८- १.७

१९९३- २.१७
१९९०- २.४६

१९८५- २.३३

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned