मार्निंग वॉकर्स के साथ सड़क पर शराबी

Arjun Richhariya

Publish: Feb, 15 2018 06:46:22 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 06:47:40 PM (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India

आबकारी और पुलिस अफसर जब रहते हैं नींद में, तबसे ही बिकने लगती है शराब

 

एक तरफ सरकार शराबबंदी और अहाते बंद करने की बात कर रही है तो दूसरी तरफ शराब ठेकेदार उसके बनाए कायदों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। शहर में शराब दुकानें खुलने का समय सुबह नौ बजे का है, लेकिन कई दुकानदारों ने गुप्त खिड़की निकालकर 24 घंटे बिक्री की व्यवस्था कर दी है। पौ फटते ही शराबी यहां से बोतल खरीदकर ले जाते हैं।

इंदौर . शराब दुकानों के खुलने का समय सुबह नौ तो बंद होने का रात 11.30 बजे है, लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि शहर में सुबह छह बजे से रात 12 बजे तक शराब बिकती है। ठेकेदारों ने दुकान के पिछले हिस्से में काउंटर बना दिए हैं, जिनसे सुबह से देर रात तक बिक्री की जाती है। सुबह जल्दी शराब मिलती है, इसलिए अहाता भी जल्दी शुरू हो जाता है। एक्सपोज के स्टिंग में ऐसी तीन दुकानें सामने आईं, जहां ये मनमानी चल रही है।

मार्निंग वॉकर्स के साथ सड़क पर शराबी
शहर में कई दुकानों पर सुबह 6 बजते ही शराब बिकना शुरू हो जाती है और दुकान के बाहर शराबियों का जमावड़ा लग जाता है। यही समय मॉर्निंग वॉकर्स और स्कूल-कॉलेज के लिए छात्र-छात्राओं के निकलने का है। वे जैसे ही घर से निकलते हैं, उनका सामना शराबियों से होता है। इससे उन्हें असहज स्थिति का सामना करना पड़ता है, लेकिन आबकारी विभाग को इसकी परवाह नहीं। इधर, ठेकेदार भी किसी नियम को नहीं मानते। आबकारी और पुलिस अफसरों-कर्मचारियों से मिलीभगत के कारण वे जैसा चाहते हैं, करते हैं। फिर वह सुबह जल्दी शराब बेचने का मामला हो या विज्ञापन होर्डिंग लगाने का।


सोम-ईश गार्डन के सामने
जिला अस्पताल के आगे वाली देशी और विदेशी शराब दुकान से सुबह 6 बजे ही शराब बिक्री शुरू हो जाती है। दुकान के साइड में बड़ा ग्राउंड है, जिसे अहाता बनाकर बड़ी संख्या में शराबी बैठकर शराब पीते हैं। शराबियों का ये जमावड़ा पुलिस को नजर नहीं आता।

टीआई से मांगेंगे जवाब
&शराब दुकान समय से पूर्व खुलती है तो पुलिस कार्रवाई करती है। फिर भी कहीं ऐसा हो रहा है तो इसकी जिम्मेदारी टीआई की है। हम उनसे स्पष्टीकरण मांगेंगे। अगर लोगों के पास समय से पहले शराब दुकान पर बिक्री की सूचना हो तो वे मुझे भी शिकायत कर सकते हैं।
-हरिनारायणाचारी मिश्रा, डीआईजी

ठेकेदार पर होगी कार्रवाई
&शराब दुकानों के खुलने और बंद होने का समय तय है। इसके पहले दुकान खोलना गलत है। जिन क्षेत्रों में ऐसा हो रहा है, वहां कार्रवाई करेंगे।
नरेशकुमार चौबे, सहायक आयुक्त आबकारी

जीएनटी मार्केट
यहां की शराब दुकान का शटर खुला हुआ था, जबकि आहते का शटर बंद था। दोनों शटर के बीच में एक छोटी सी खिड़की है। खिड़की बजाने पर अंदर बैठा व्यक्ति पैसे लेकर बोतलें दे देता है। शराब लेने के लिए बड़ी संख्या में शराबियों का जमावड़ा लगा रहता है।

सिरपुर तालाब के सामने
देशी शराब दुकान की दीवार में एक छोटा सा खिड़कीनुमा बना हुआ है, यहीं से बोतलें बेची जाती हैं। एक के बाद एक शराबी खिड़की से बोतलें ले रहे थे। कुछ तो वहीं खड़े होकर पी भी रहे थे।

1
Ad Block is Banned