धार के आबकारी अधिकारी पर अभी भी चल रही कार्यवाही, शिकंजे में बाकि के अधिकारी भी फंसे

धार कलेक्टर ने सभी आबकारी अधिकारियों को तलब कर उपस्थिति दर्ज कराने के दिए निर्देश

इंदौर. अपने रसूख से सीधे जिला आबकारी अधिकारी बने पराक्रम सिंह चंद्रावत को आबकारी आयुक्त ने नोटिस जारी कर ७ दिन में जबाव देने को कहा है। जवाब नहीं देने पर एक पक्षीय कार्रवाई की जाएगी। धार कलेक्टर दीपक सिंह की रिपोर्ट पर आबकारी आयुक्त रजनीश श्रीवास्तव ने ११ मई को पराक्रम को नोटिस जारी कर 7 दिन में जवाब मांगा है। इंदौर जिले के डीसी संजय तिवारी से भी आबकारी आयुक्त ने रिपोर्ट तलब की थी।

धार एडीईओ निगम से मांगे गए प्रतिवेदन के आधार पर डीसी ने अपनी रिपोर्ट भेजी है। लोकायुक्त छापे के बाद आबकारी विभाग के मुख्यालय ग्वालियर में अटैच किए गए डीईओ पराक्रम के निवास और ६ ठिकानों पर २७ अप्रैल को लोकायुक्त पुलिस ने आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने पर भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कई धाराओं में केस दर्ज किया था। घर से निर्धारित मात्रा से अधिक शराब मिलने पर विजय नगर पुलिस ने भी पराक्रम पर प्रकरण दर्ज कर जमानत पर छोड़ा है। दोनों प्रकरणों में जांच व कार्रवाई अभी जारी है।

बरती सख्ती
कलेक्टर दीपक सिंह ने छापे की विस्तृत जानकारी ली और धार जिला आबकारी अधिकारी समेत सभी अधिकारियों को एसडीओ अथवा उनकी अनुपस्थिति में तहसीलदार के समक्ष नियमित उपस्थिति दर्ज कराने के आदेश दिए। पराक्रम अधिकारियों को गंभीरता से नहीं लेते थे।

धार कलेक्टर दीपक सिंह की रिपोर्ट पर तत्कालीन डीईओ पराक्रम सिंह चंद्रावत को नोटिस जारी किया है। मुख्यालय पर नहीं होने की बात सामने आई थी। अगर उन्होंने सात दिनों में कोई जवाब नहीं दिया तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
रजनीश श्रीवास्तव, आयुक्त, आबकारी विभाग

कांग्रेस से कनेक्शन की चर्चा

छापे के बाद शहर में यही चर्चा रही कि चंद्रावत के कांग्रेस कनेक्शन के कारण उसके यहां छापा पड़ा है। लोकायुक्त सूत्रों के मुताबिक उसके यहां मिली डायरियों में कुछ कांग्रेस नेताओं के नाम मिले हैं, जबकि कुछ माह पहले हुए कोलारस और मुंगावली उपचुनाव से संबति कुछ जानकारी मिली है। अकिारी अकिृत तौर पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned