गोपाल मंदिर के पीछे बने मार्केट में दुकानों की लॉटरी 17 दिसंबर को

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत राजबाड़ा और गोपाल मंदिर का किया जा रहा है जीर्णोद्धार

By: हुसैन अली

Published: 08 Dec 2019, 08:30 AM IST

इंदौर. गोपाल मंदिर के पीछे बन रहे नए मार्केट में दुकानों का आवंटन लॉटरी सिस्टम से किया जाएगा। पात्र दुकानदारों की उपस्थिति में लॉटरी की चिट्ठी 17 दिसंबर को निकाली जाएगी।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत राजबाड़ा और गोपाल मंदिर का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। इसके लिए नगर निगम ने राजबाड़ा की दीवार और गोपाल मंदिर के अंदर तकरीबन ५० वर्ष से लगी दुकानों के साथ गुमटियों को हटाया ताकि इन ऐतिहासिक धरोहर राजबाड़ा और गोपाल मंदिर को संवारकर पुराना स्वरूप फिर से लौटाया जा सके। यहां से हटाई गई दुकानों और गुमटी वालों को बड़वाली चौकी के पास पुलिस हाउसिंग की खाली पड़ी जमीन पर अस्थायी दुकान बनाकर दी गई। व्यापारियों ने दुकान खोली, लेकिन व्यापार नहीं चला। नतीजतन 60 से 70 बनी दुकानों में से दो-चार ही खुलती और बाकी बंद पड़ी रहती है। लोग सामान खरीदने नहीं आते और व्यापार न होने पर दुकानें बंद ही हो गई। राजबाड़ा और गोपाल मंदिर जीर्णोद्धार के चलते जिन दुकानदारों को हटाया गया था, उन्हें गोपाल मंदिर के पीछे बन रहे नवनिर्मित कॉम्पलेक्स में स्थित दुकानों का आवंटन निगम करने जा रहा है।

इन दुकानों का आवंटन गोपाल मंदिर एवं उसके आसपास के पात्र दुकानदारों को दुकानों का आवंटन लॉटरी के जरिए किए जाएगा। दुकानदारों के नाम की चिट्ठी डालने के बाद १७ दिसंबर को दुकानदारों की उपस्थिति में दोपहर १ बजे सिटी बस ऑफिस में लॉटरी निकाली जाएगी। इस दौरान निगम मॉर्केट विभाग के अफसर भी मौजूद रहेंगे। निगम अफसरों के अनुसार गोपाल मंदिर ट्रस्ट स्वामित्व के पात्र दुकानदारों की पहले लॉटरी निकाली जाएगी।

नो प्रॉफिट और नो लॉस पर देंगे दुकान

निगम अफसरों के अनुसार गोपाल मंदिर और आसपास से जिन दुकानदारों को हटाया गया है उन्हें नया मार्केट निगम बनाकर दे रहा है। गोपाल मंदिर के पिछे यह नया मार्केट लगभग 5 करोड़ रुपए की लागत से बना है, जिसका काम लगभग पूरा होने को आया है। निगम नए मार्केट में नो प्रॉफिट और नो लास में दुकानें व्यापारियों को देगा। इसके चलते दुकानदार को महज 5 से 10 प्रतिशत कीमत ही देना होगी। बाजार भाव से कम रेट पर यह दुकानें रहेंगी, जबकि राजबाड़ा एरिया में दुकान का भाव अधिक रहता है।

निगम के साए में लगती है दुकानें

राजबाड़ा व गोपाल मंदिर के आसपास, अटाला बाजार और इमामबाड़ा की तरफ निगम के साए में दुकानें लगती हैं, क्योंकि यहां पर सुबह से लेकर शाम तक रिमूवल विभाग की जीप खड़ी रहती है और रोड पर दुकानें लगती है। इससे एक तरफ जहां यातायात बाधित होता रहता है वहीं दूसरी तरफ राजबाड़ा और गोपाल मंदिर का काम चल रहा है। रोड पर दुकानें लगने से दोपहर बाद यहां से पैदल और वाहन से निकलना मुश्किल हो जाता है।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned