खजराना गणेशजी को चढ़ाए कमल, जोड़ दिए भाजपा के चुनाव खर्च में

खजराना गणेशजी को चढ़ाए कमल, जोड़ दिए भाजपा के चुनाव खर्च में
खजराना गणेशजी को चढ़ाए कमल

Reena Sharma | Publish: May, 15 2019 05:07:49 PM (IST) | Updated: May, 16 2019 11:06:38 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

खजराना गणेश मंदिर में चोला चढ़ाने को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेटर लोकेश कुमार जाटव ने आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कर लिया

 

 

इंदौर. खजराना गणेश मंदिर में चढ़ाए गए कमल के फूलों को निर्वाचन विभाग भाजपा प्रत्याशी के खाते में जोडऩे के लिए अड़ गया है। मानना है कि चुनावी गतिविधियों के चलते भाजपा के लोकसभा संयोजक ने कार्यक्रम किया था। इधर, भाजपा ने उसे अपना खर्च मानने से इनकार कर दिया है। सवाल खड़े करते हुए कहा कि हमारी पार्टी के नेता मंदिर जाएंगे, जो भी चढ़ेगा वह हमारे हिसाब में जोड़ा जाएगा। खजराना गणेश मंदिर में चोला चढ़ाने को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेटर लोकेश कुमार जाटव ने भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी व पुजारी अशोक भट्ट पर आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कर लिया।

ये मामला सुलझा नहीं था कि नया बवाल फिर खड़ा हो गया। निर्वाचन विभाग की व्यय लेखा टीम ने भाजपा प्रत्याशी लालवानी के खर्चे में अब चढ़ाए गए कमल के फूलों का खर्चा भी जोडऩे को कहा है। हुआ यूं कि पुजारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के खिलाफ भाजपा के लोकसभा संयोजक व विधायक रमेश मेंदोला के नेतृत्व में ब्राह्मण समाज के नेताओं ने प्रदर्शन कर मंदिर में कमल के सैकड़ों फूल चढ़ाए थे। इसके जरिए समाज के
नेताओं ने कलेक्टर को घेरने का प्रयास किया था, जो अब भाजपा प्रत्याशी लालवानी को भारी पड़ रहा है। कल लालवानी के इलेक्शन एजेंट सुरेश बंसल व मनोहर मेहता हिसाब

िकताब देने पहुंचे थे। मोदी की सभा को छोड़कर 13 मई तक प्रत्याशी ने 18 लाख 9 हजार 652 रुपए खर्च किए। हिसाब देखने के बाद निर्वाचन के व्यय लेखा अधिकारी ने पूछा कि मंदिर में चढ़ाए गए कमल के फूलों का हिसाब कहां है, उसे जोड़ के दो? इस पर बंसल का कहना था कि समाज नेताओं के फूल चढ़ाने से प्रत्याशी का या लेना-देना। इसको लेकर दोनों पक्षों में तर्क-वितर्क हुआ। इस पर बंसल का कहना था कि आप हम जो हिसाब दे रहे हैं, उसे स्वीकार करें। हमें नोटिस दें हम उसका जवाब देंगे। इस पर विभाग ने हिसाब तो ले लिया, लेकिन नोटिस देने की तैयारी की जा रही है। कहीं भी कमल चढ़ेंगे तो जोड़ दोगे खाते में जिला निर्वाचन के रवैये को लेकर भाजपा अब केंद्रीय निर्वाचन आयोग को शिकायत करने के मूड में है। लालवानी पर मुकदमा, पटवारी को लीन चिट, मोदी के रोड शो को अनुमति नहीं देकर प्रियंका गांधी को अनुमति सहित कमल फूल मंदिरों में चढ़ाए जाने का मुददा रखा जाएगा। प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा, नगर महामंत्री मुकेश राजावत व बंसल के मुताबिक जिला निर्वाचन भेदभाव पूर्ण कार्रवाई कर रहा है, जो स्वस्थ लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। शहर के जितने भी मंदिरों में कमल के फूल चढ़ेंगे तो सब भाजपा के खातों में डाल दोगे या पार्टी से जुड़े नेता मंदिर गए तो उनकी श्रद्धा को भी प्रत्याशी के खाते में जोड़कर देखा जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned