scriptMadhya Pradesh government gave permission for Betma cluster | बेटमा क्लस्टर अब 3500 एकड़ में, आकार लेंगे इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल व बायोटेक पार्क | Patrika News

बेटमा क्लस्टर अब 3500 एकड़ में, आकार लेंगे इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल व बायोटेक पार्क

2200 एकड़ का प्लान पहले ही तैयार, अब 3500 एकड़ में होगा विकास।

इंदौर

Published: June 09, 2022 01:03:34 am

इंदौर. शहर को महानगरीय क्षेत्र के साथ ही औद्योगिक विकास को भी गति देने की कवायद शुरू हो गई है। कैबिनेट ने पीथमपुर फेज-7 का एक्सटेंशन प्लान को मंजूरी दे दी है। अब बेटमा क्लस्टर िस्थत यह सेक्टर 3500 एकड़ में विकसित होगा। जमीन मप्र औद्योगिक विकास निगम लैंड पूलिंग नीति से अधिग्रहित करेगी। यहां इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल व बायोटेक पार्क के साथ ही लॉजिस्टिक हब की योजना बना रहे हैं। इसके व इंदौर से पीथमपुर के बीच 21 किमी के इकानॉमिक कॉरिडोर विकसित होने पर आने वाले तीन साल में 50 हजार प्रत्यक्ष व इतने ही अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। 25 हजार करोड़ रुपए निवेश मिलने की उम्मीद है।
बेटमा क्लस्टर अब 3500 एकड़ में, आकार लेंगे इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल व बायोटेक पार्क
बेटमा क्लस्टर अब 3500 एकड़ में, आकार लेंगे इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल व बायोटेक पार्क
मप्र औद्योगिक विकास निगम द्वारा दिल्ली-मुबंई इंडस्ट्रीयल कॉरिडोर के तहत विकसित किए जा रहे बेटमा क्लस्टर के फेज-टू को हरी झंडी मिल गई है। पिछले दिनों ऑटो एक्सपो में इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल कंपनियों की मांग को देखते हुए करीब 1250 एकड़ और जमीन अधिग्रहण मंजूरी के लिए प्रस्ताव भेजा था। सरकार की मंजूरी मिलने पर अब इसे पहले चरण के साथ ही विकसित किया जाएगा। यह निजी जमीन लैंड पूलिंग से ली जाएगी। इसमें किसान को 20 प्रतिशत नकद राशि और 80 फीसदी जमीन देंगे। क्षेत्र का विकास निगम करेगा। इसमें औद्योगिक उपयोग के साथ ही अन्य उपयोग की जमीनें भी होंगी। इसका विकास प्लान तैयार कर लिया गया है। जल्द अधिग्रहण की सूचना का प्रकाशन कर किसानों से अनुबंध किए जाएंगे। जमीन पर कब्जा मिलते ही टेंडर जारी होंगे।
निगम के कार्यकारी संचालक रोहन सक्सेना के अनुसार बेटमा क्लस्टर को विकसित करने के लिए पीथमपुर का विस्तृत मास्टर प्लान तैयार किया है। इसमें निजी जमीनें लैंड पूलिंग नीति से ली जा रही हैं। पहले फेज में करीब 1500 एकड़ निजी व 700 एकड़ सरकारी जमीन ली गई। ऑटो एक्सपो में इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल कंपनियों की रूचि देखते हुए इस प्रोजेक्ट को और विस्तृत करने की अनुमति मांगी गई थी। अब निगम 3500 एकड़ में इसका विकास करेगा।
इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल पार्क

पीथमपुर ऑटो मोबाइल के क्षेत्र में देश का अग्रणी सेंटर है। यहां इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल का निर्माण भी शुरू कर दिया गया है। नेटि्रप व अन्य सुविधाएं होने पर सरकार अब यहां ईवी व्हीकल निर्माण कंपनियां, ऑटो एनसीलरिज, बैटरी निर्माता व टायर कंपनियों के लिए भी सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए ईवी पार्क तैयार कर रही है। इसमें एक्सपो के दौरान ही करीब 25 से ज्यादा कंपनियों ने अपनी रूचि दिखाते हुए सरकार को एप्रोच किया है।
बायोटेक पार्क

इस क्लस्टर में बायोटेक पार्क की भी योजना है, जिससे बायो टेक्नालॉजी के क्षेत्र में काम कर रही उत्पादक कंपनियां, स्टार्ट अप इंदौर के आसपास आ सकें। बेटमा क्लस्टर में इसके लिए भी प्लानिंग की जा रही है।
लॉजिस्टिक हब

बेटमा क्लस्टर का तीसरा बड़ा आकर्षण लाजिस्टिक हब होगा। इसके लिए करीब 300 हेक्टेयर जमीन तय की गई है। इस संबंध में सड़क परिवहन मंत्रालय के अफसरों से चर्चा भी चल रही है। इस पार्क से गुजरात व महाराष्ट्र पोर्ट पर आवाजाही सड़क व रेल मार्ग दोनों से होने की सुविधा मिलेगी। यहां से दिल्ली-मुबंई एक्सप्रेस हाई-वे के गरोठ नोड तक भी सीधा मार्ग तैयार किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.