scriptMahakal-jyotirlinga darshan become costlier | महंगे हुए महाकाल के दर्शन, गरीबों को नहीं मिलेगी एंट्री | Patrika News

महंगे हुए महाकाल के दर्शन, गरीबों को नहीं मिलेगी एंट्री

जल चढ़ाने के देने होंगे रुपए, भस्म आरती दर्शन का भी लगेगा पैसा, दिन में सिर्फ तीन घंटे होंगे मुफ्त दर्शन

इंदौर

Published: February 17, 2022 09:41:10 pm

इंदौर. महाकालेश्वर ज्योर्तिलिंग का दर्शन देशभर में सबसे महंगा दर्शन हो गया है. भगवान को जलचढ़ाने के साथ दर्शन करने का भारीभरकम शुल्क तय कर दिया गया है. मुफ्त दर्शन के लिए सप्ताह में चार दिन सिर्फ तीन घंटे की अवधि तय की गई है. यदि इस अवधि भी भीड़ बढ़ती है तो मुफ्त दर्शन जलार्पण बंद कर दिया जाएगा. प्रशासन की इस व्यवस्था का देशभर के श्रदृालु विरोध कर रहे हैं. भारी भरकम शुल्क व्यवस्था के चलते अब गरीबों को शायद ही दर्शन मिल पाए. भस्म आरती के लिए भी शुल्क व्यवस्था लागू की गई है.
महंगे हुए महाकाल के दर्शन, गरीबों को नहीं मिलेगी एंट्री
महंगे हुए महाकाल के दर्शन, गरीबों को नहीं मिलेगी एंट्री
ज्योर्तिलिंग के दर्शन के लिए शुल्क लागू करने वाला महाकालेश्वर देशभर का पहला मंदिर प्रबंधन है। हिमालय की पर्वतमालाओं के बीच विराजे केदारनाथ से लेकर समुद्रतट पर बसे रामेश्वरम् ज्योर्तिलिंग में भी दर्शन के लिए कोई अनिवार्य शुल्क नहीं लिया जाता है, लेकिन महाकालेश्वर में दर्शन के साथ जल चढ़ाने के 1500 रुपए देने पड़ेंगे. भस्म आरती के लिए भी 200 रुपए का शुल्क तय कर दिया गया है.
महंगे हुए महाकाल के दर्शन, गरीबों को नहीं मिलेगी एंट्रीदेवों के देव महादेव के देशभर में 12 ज्योतिर्लिंग हैं। इनमें सिर्फ उज्जैन के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की ही भस्म आरती होती है। इसके दर्शन पूजन का पुराणों में सर्वाधिक महत्व बताया गया है, लेकिन महाकाल मंदिर समिति ने इसी भस्म आरती का दर्शन के लिए अनिवार्य शुल्क लागू कर दिया है। भगवान शिव के दर्शन के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण दिन माने जाने वाले शनिवार, और सोमवार के साथ भीड़भाड़ वाले दिन रविवार को ज्योर्तिलिंग के जलार्पण पर पूरे दिन सिर्फ दो लोगों के लिए 1500 रुपए देने पड़ेंगे।
हरिओम जल और भस्मआरती

उज्जैन में भगवान महाकाल की ब्रम्हमुहूर्त में भस्म आरती से पूर्व भगवान को हरिओम जल अर्पित किया जाता है। वर्षों से परंपरागत तरीके से सैकड़ों भक्त भस्म आरती से पूर्व शिवलिंग को जल अर्पित करने के बाद भस्मआरती दर्शन का लाभ लेते रहे हैं। हरिओम जल भस्मआरती और प्रात:श्रृंगार से पूर्व चढ़ाया जाता है। हलांकि हरिओम जल के लिए शुल्क नहीं लगाया गया है.
दुर्गम केदारनाथ पर भी कोई शुल्क नहीं
भगवान महादेव 12 ज्योतिर्लिंगों में सबसे दुर्गम ऊंचाई पर हिमालय की चोटियों पर भगवान केदारनाथ का मंदिर है। गर्मियों में सीमित समय के लिए खुलने वाले इस मंदिर में देश के सबसे दुर्लभ दर्शन माने जाते हैं, लेकिन यहां भी दर्शन के लिए कोई शुल्क नहीं लगता।

रामेश्वरम, काशी विश्वनाथ में भी शुल्क नहीं
समुद्रतट पर रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग और काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग के दर्शन के लिए भी कोई अनिवार्य शुल्क नहीं लगाया गया है। हाल ही में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर विकसित किया गया, लेकिन श्रद्धालुओं से दर्शन के नाम पर कोई अनिवार्य वसूली नहीं हो रही है।

ये हैं देश के 12 ज्योतिर्लिंग
01. महाकाल, उज्जैन
02. ओंकारेश्वर, खंडवा
03. काशी विश्वनाथ, वाराणसी
04. केदारनाथ, उत्तराखंड
05. वैजनाथ धाम, देवगढ़ झारखंड
06. सोमनाथ, गुजरात
07. त्रैम्बकेश्वर , नासिक, महाराष्ट्र
08. रामेश्वरम, तमिलनाडु
09. नागेश्वर, गुजरात
10. मल्लिकार्जुन, आंध्रप्रदेश
11. गिरनेश्वर, औरंगाबाद, महाराष्ट्र
12. भीमाशंकर, महाराष्ट्र

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का बड़ा फैसला, ज्ञानवापी सर्वे मामले को टेक ओवर करेगा बोर्डआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.