scriptmalwa nimar gives booster dose to employment in next 5 years 10101 | मध्यप्रदेश को रोजगार का बूस्टर डोज देगा मालवा-निमाड़ | Patrika News

मध्यप्रदेश को रोजगार का बूस्टर डोज देगा मालवा-निमाड़

  • पांच साल में तीन लाख से अधिक नए अवसर होंगे सृजित

इंदौर

Updated: December 31, 2021 11:17:33 pm

अभिषेक

इंदौर. अगर सबकुछ ऐसे ही चलता रहा तो मालवा-निमाड़ आने वाले समय में मध्यप्रदेश को राेजगार का बूस्टर डोज देगा। इसके लिए तैयारियां भी शुरू हो चुकी हैं। कई क्लस्टरों को हरी झंडी मिलने के साथ ही उनपर काम भी शुरू हो चुका है। बड़े उद्योग भी यहां उम्मीद भरी निगाहों से देख रहे हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि पांच साल में तीन लाख से अधिक रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। इसका फायदा अन्य सेक्टर को मिलेगा। प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के साधन बढ़ने से दूसरे कारोबार भी बूम करेंगे। पहले से ही प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाना वाला इंदौर राजस्व में और वृद्धि कराएगा।


it_park.jpg
आईटी पार्क इंदौर
इन क्लस्टर्स को मिल चुकी है हरी झंडी
दरअसल, कोविड काल में अनगिनत नौकरियां चली गईं। ऐसे में अब लोगों की निगाहें रोजगार के नए माध्यमों पर हैं। मालवा-निमाड़ की बात करें तो आने वाले पांच साल में आधा दर्जन से अधिक औद्योगिक क्लस्टर और लॉजिस्टिक हब अस्तित्व में आ जाएंगे। खिलौना, कन्फेक्शनरी, फर्नीचर, फार्मा व फूड प्रोसेसिंग क्लस्टर को सरकार ने पहले ही हरी झंडी दे दी है। पीथमपुर में नए उद्योग स्थापित हो रहे हैं। ई-व्हीकल प्रोडक्शन को प्रमोट करने को लेकर अच्छा प्लान तैयार किया गया है। देवास में एयरकार्गो, लॉजिस्टिक हब पांच साल के अंदर शुरू हो जाएगा। इसके अलावा फार्मा क्लस्टर व मेडिकल डिवाइस हब भी आकार ले लेगा।
यहां से हैं उम्मीदें

  • फर्नीचर क्लस्टर
    बेटमा में 450 एकड़ में तैयार होने वाले क्लस्टर के प्रारंभिक चरण में पांच हजार लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। 170 कंपनियां 750 करोड़ के निवेश प्रस्ताव दे भी चुकी है। कुछ अंतरराष्ट्रीय कंपनियां भी यहां आना चाहती हैं।

  • प्लास्टिक क्लस्टर
    बेटमा में बनने वाले इस क्लस्टर में पहले चरण में 200 एकड़ जमीन दी जाएगी। प्रारंभिक चरण में 10 हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। पांच साल बाद यहां हर वर्ष करीब 3 हजार करोड़ प्रति वर्ष के कारोबार की उम्मीद है। पहले चरण के लिए 150 उद्योगपतियों ने 300 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव दिए हैं।

  • खिलौना क्लस्टर
    राऊ के पास रंगवासा में 70 करोड़ के निवेश के साथ पहले चरण में करीब 4 हजार लोगों को रोजगार मिल सकेगा। इसके सेकंड फेस की भी तैयारी की गई है। अनुमान है यहां 250 करोड़ कारोबार हर वर्ष होगा और करीब 30 करोड़ का जीएसटी सरकार को मिलेगा।

  • फार्मा क्लस्टर
    इंदौर और उज्जैन के बीच 100 एकड़ में फार्मा क्लस्टर बनाने की तैयारी है। पहले चरण में 80 दवा कंपनियां वहां 1000 करोड़ का निवेश करने को तैयार हैं। 10 हजार लोगों को रोजगार मिलना तय है।

  • ग्रीन एनर्जी क्लस्टर
    पुनासा के पास 20 एकड़ में बनने वाले इस क्लस्टर को लेकर सरकार ने सहमति दे दी है। करीब 26 निवेशक 60 करोड़ का निवेश कर प्लांट शुरू करेंगे। इंदौर के आसपास भी एक ग्रीन एनर्जी क्लस्टर योजना में है। दोनों मिलाकर करीब 5 हजार लोगों को रोजगार देने की उम्मीद है।

  • इन क्लस्टर्स को मिल चुकी है हरी झंडी
    दरअसल, कोविड काल में अनगिनत नौकरियां चली गईं। ऐसे में अब लोगों की निगाहें रोजगार के नए माध्यमों पर हैं। मालवा-निमाड़ की बात करें तो आने वाले पांच साल में आधा दर्जन से अधिक औद्योगिक क्लस्टर और लॉजिस्टिक हब अस्तित्व में आ जाएंगे। खिलौना, कन्फेक्शनरी, फर्नीचर, फार्मा व फूड प्रोसेसिंग क्लस्टर को सरकार ने पहले ही हरी झंडी दे दी है। पीथमपुर में नए उद्योग स्थापित हो रहे हैं। ई-व्हीकल प्रोडक्शन को प्रमोट करने को लेकर अच्छा प्लान तैयार किया गया है। देवास में एयरकार्गो, लॉजिस्टिक हब पांच साल के अंदर शुरू हो जाएगा। इसके अलावा फार्मा क्लस्टर व मेडिकल डिवाइस हब भी आकार ले लेगा।

  • फूड प्रोसेसिंग क्लस्टर
    दो क्लस्टर सरकार की योजना में है। एक महू के पास और दूसरा नेमावर रोड पर। हालांकि दोनों पर अंतिम फैसला बाकी है, लेकिन इससे जुड़े उद्योगपतियों का कहना है दोनों के लिए करीब 100 निवेशक तैयार हैं और पहले चरण में ही पांच हजार लोगों को रोजगार मिल सकता है।

  • आईटी सेक्टर
    इंदौर में तीसरे आईटी पार्क की तैयारी के साथ ही सिंहासा में नया आईटी पार्क शुरू हो गया है। सुपर कॉरिडोर पर भी कुछ बड़ी कंपनियां आईटी सेक्टर में निवेश करने का प्रस्ताव दे चुकी हैं। पांच साल में यहां पर 50 हजार से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।

  • इनमें भी उम्मीद
    पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के चलते ई व्हीकल का उपयोग बढ़ रहा है। भविष्य को देखते हुए कई बड़ी ऑटो मोबाइल कंपनिया ई व्हीकल की तरफ बढ़ रही हैं। पीथमपुर के पास ऑटो टेस्टिंग सेंटर के आसपास कई कंपनियों ने जमीन ली भी है। केंद्र सरकार से जुड़ा मेडिकल डिवाइस हब भी उज्जैन में शुरू होने की तरफ कदम आगे बढ़े हैं। यह दोनों सेक्टर भी प्रदेश में बड़ी संख्या में रोजगार उपलब्ध कराएंगे।

    • चार लाख लोगों को दे रहे रोजगार
      अगले पांच साल में उद्योग जगत रोजगार के तीन लाख नए अवसर पैदा करेगा। मालवा-निमाड़ क्षेत्र में संचालित उद्योगों में प्रत्यक्ष रूप से करीब चार लाख लोगों को रोजगार मिला है। इंदौर-पीथमपुर में 3200 बड़े-छोटे उद्योग संचालित किए जा रहे हैं। आत्मनिर्भर भारत और आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश अभियान के तहत सरकार की योजनाएं भी उद्योगों को मजबूत कर रही हैं। अगले पांच साल का समय इंडस्ट्री के लिहाज से काफी स्वर्णिम साबित होंगे।
      -प्रमोद डफरिया, अध्यक्ष एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज मप्र

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: महान हस्तियों के इतिहास को सीमित करने की गलतियों को सुधार रहा देश: पीएम मोदीभारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्र सरकारUP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोIND vs SA: बेकार गया दीपक चाहर का संघर्ष, रोमांचक मुकाबले में 4 रन से हारी टीम इंडियाJEE Mains 2022: कब शुरू होंगे रजिस्ट्रेशन, चेक करें सब डिटेलCovid-19 Update: देश में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 3.33 लाख नए मामले, 525 मरीजों की गई जानअब अहमदाबाद में खेले जाएंगे भारत-वेस्टइंडीज की वन डे सीरीज के सभी मैच
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.