Good News: नए वर्ष से मांगलिया-बुधनी रेल लाइन का श्रीगणेश

Good News: इंदौर(मांगलिया)-बुधनी नई रेल लाइन प्रोजेक्ट में मांगलिया व बुदनी को जंक्शन बनाया जाएगा। मांगलिया के बाद निसाखेड़ी, करनावद, चापड़ा, कमलापुर, हथनोरा, कलवर देवली, कन्नौद, ननासा, खातेगांव, कोलारी, नसरुल्लागंज, रामगंज, बरखेड़ा नए स्टेशन होंगे। इसके साथ ही 10 नए क्रॉसिंग स्टेशन भी बनाए जाएंगे।

संजय रजक @ इंदौर. वर्षों से अटकी इंदौर(मांगलिया)-बुधनी नई रेल लाइन प्रोजेक्ट अब जमीन पर आ गया है। इस 198 किमी लंबी रेल लाइन के लिए टेंडर जारी कर दिया है। संभवत: वर्ष 2020 की शुरुआत में ही इस रेल लाइन का काम शुरू हो जाएगा। परियोजना को वर्ष 2024-25 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसकी अनुमानित लागत 3261.82 करोड़ रुपए है। इसमें बुदनी व मांगलिया स्टेशनों को जंक्शन बनाया जाएगा। रेल लाइन पूरी होने पर खातेगांव, नसरुल्लागंज, बुदनी क्षेत्र से लगे अनेक गांवों के लोगों को सीधा फायदा मिलेगा। इस नए रूट से इंदौर व जबलपुर के बीच की दूरी 68 किमी कम हो जाएगी। उल्लेखनीय है कि इंदौर-जबलपुर रेल लाइन की घोषणा रेल बजट 2016-17 में हुई थी। पिछले वर्ष सर्वे कार्य पूरा हो गया था। रेल विकास निगम लिमिटेड द्वारा सितंबर में इस प्रोजेक्ट के लिए टेंडर जारी किए गए।

इंदौर-जबलपुर की घटेगी दूरी

वर्तमान में रेल मार्ग से इंदौर-जबलपुर की दूरी 554 किमी है, लेकिन नई रेल लाइन शुरू होने के बाद इंदौर-जबलपुर की दूरी 461 किमी रह जाएगी। यात्रा समय में भी 2 से 3 घंटे की कमी आ जाएगी। बुधनी से जबलपुर 263 किमी है।

ये गांव-शहर बनेंगे स्टेशन

मांगलिया व बुदनी को जंक्शन बनाया जाएगा। मांगलिया के बाद निसाखेड़ी, करनावद, चापड़ा, कमलापुर, हथनोरा, कलवर देवली, कन्नौद, ननासा, खातेगांव, कोलारी, नसरुल्लागंज, रामगंज, बरखेड़ा नए स्टेशन होंगे। इसके साथ ही 10 नए क्रॉसिंग स्टेशन भी बनाए जाएंगे।

व्यापार-व्यवसाय बढ़ेगा

परियोजना का मुख्य उद्देश्य पिछड़े क्षेत्रों का विकास व इंदौर से जबलपुर, मुंबई व दक्षिण भारत की ओर यात्रा समय में कमी लाना है। बुदनी, रेहटी, नसरुल्लागंज, खातेगांव क्षेत्र में नए उद्योग लग सकेंगे। प्रदेश की सबसे बड़ी मंडियों में से एक नसरुल्लागंज सहित आस-पास के सैकड़ों गांवों के किसान सीधे इंदौर से जुड़ सकेंगे।

ट्रेन से कम समय लगेगा

रेलवे ट्रैक से जहां इंदौर से बुदनी की दूरी 198 किमी है। वहीं, सड़क मार्ग से यह मात्र 217 किमी है। नई रेल लाइन और बस रोड की लंबाई में ज्यादा अंतर नहीं रहेगा। 19 किमी का ही अंतर रह जाएगा।

Sanjay Rajak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned