scriptMedical issue | अधर में 100 बिस्तरों का अस्पताल | Patrika News

अधर में 100 बिस्तरों का अस्पताल

पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में बीमा निगम ने १०० बिस्तर का अस्पताल तो मंजूर कर दिया, लेकिन वह अब तक आकार नहीं ले पाया। इससे औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले हजारों मजदूरों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उपचार के लिए उन्हें इंदौर आना पड़ रहा है। इससे उन्हें आर्थिक हानि के साथ ही मानसिक परेशानी से भी गुजरना पड़ रहा है। मजदूरों के इलाज को लेकर किए जाने वाले संघर्ष को देखते हुए पीथमपुर औद्योगिक संचालक संगठन (पास) ने एक पत्र केंद्रीय श्रम मंत्रालय और राज्य कर्मचारी बीमा निगम के निर्देश

इंदौर

Published: February 17, 2022 12:06:22 pm

इंदौर। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में बीमा निगम ने १०० बिस्तर का अस्पताल तो मंजूर कर दिया, लेकिन वह अब तक आकार नहीं ले पाया। इससे औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले हजारों मजदूरों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उपचार के लिए उन्हें इंदौर आना पड़ रहा है। इससे उन्हें आर्थिक हानि के साथ ही मानसिक परेशानी से भी गुजरना पड़ रहा है। मजदूरों के इलाज को लेकर किए जाने वाले संघर्ष को देखते हुए पीथमपुर औद्योगिक संचालक संगठन (पास) ने एक पत्र केंद्रीय श्रम मंत्रालय और राज्य कर्मचारी बीमा निगम के निर्देशक को लिखा है।
अब तक काम शुरू नहीं
अधर में 100 बिस्तरों का अस्पताल
अधर में 100 बिस्तरों का अस्पताल
अध्यक्ष अतुल खंडेलवाल ने बताया कि संगठन की मांग पर १०० बेड का अस्पताल मंजूर किया गया, लेकिन बिल्डिंग का काम अब तक शुरू नहीं हो पाया है। जबकि जमीन का आवंटन तक हो गया है। जमीन के चारों ओर बाउंड्रीवाल भी बन चुकी है। इस अस्पताल के निर्माण से सबसे अधिक फायदा यहां काम करने वाले मजदूरों को मिलेगा। वर्तमान में उन्हें उपचार के लिए निजी अस्पताल जाना होता है या फिर इंदौर नंदा नगर स्थित बीमा अस्पताल। इंदौर आने-जाने में समय के साथ ही आर्थिक नुकसान भी होता है। उन्हें एक दिन का अवकाश तक लेना पड़ता है। यहां अस्पताल निर्माण होने से हजारों मजूदरों का समय और पैसा भी बचेगा। खंडेलवाल ने बताया कि बीमा निगम दिल्ली ने 100 बिस्तर का अस्पताल तो मंजूर कर दिया, लेकिन अब तक काम आगे नहीं बढ़ पाया है। इसी को ध्यान में रखकर और जल्द से जल्द अस्पताल तैयार कराया जाए, इसी को लेकर पत्र व्यवहार किया गया है।
राधास्वामी कोविड सेंटर बंद
कोरोना के मामलों में तेजी से गिरावट आने लगी है। सरकारी से निजी अस्पतालों में गिनती के 44 संक्रमित मरीज हैं। इसमें से नौ आईसीयू में भर्ती हैं, जिसमें एमआरटीबी में पांच पांच मरीज हैं। संक्रमण की घटती दर के चलते प्रशासन ने राधास्वामी कोविड केयर सेंटर बंद कर दिया है। सीएमएचओ डॉ. बी एस सैत्या ने बताया कि पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार घट रही है। जिले में ७६७ एक्टिव मरीज हैं। इनमें से ४४ मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं और नौ आईसीयू में हंै। आईसीयू में वही मरीज हैं, जिन्हें अन्य बीमारियां भी हैं। शेष मरीज होम आइसोलेशन में हैं। ६८० बेड के राधास्वामी कोविड केयर सेंटर को बंद कर दिया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

महंगाई की मार! सरकार के इस फैसले से लगेगा तगड़ा झटका, 1 जून से महंगी हो जाएगी कार-बाइक की खरीदारीबंगाल के राज्यपाल के निशाने पर ममता बनर्जी के भतीजे, कहा - 'अभिषेक बनर्जी ने पार की लक्ष्मण रेखा'Haryana Congress Rally: पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 6 हजार रुपए देंगे वृद्धा पेंशनमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगसुप्रिया सुले पर विवादित टिप्पणी के बाद बीजेपी नेता चंद्रकांत पाटील ने मांगी माफीअरविंद केजरीवाल ने कहा- हरियाणा में लाखों बच्चों का भविष्य अंधकार में, हमें मौका मिला तो बच्चे बनेंगे डॉक्टर-इंजीनियरउज्जैन की गली-गली में घूमे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शादी के कपड़े भी यहीं सिलाए, जानिए बार-बार क्यों आते थे यहांअमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.