IIT छोड़ इंदौर से किया BE, माइक्रोसॉफ्ट ने दिया 80 लाख का पैकेज

IIT छोड़ इंदौर से किया BE, माइक्रोसॉफ्ट ने दिया 80 लाख का पैकेज

आईआईटी में एडमिशन का मौका छोड़कर ओरिएंटल यूनिवर्सिटी से बीई करने वाराणसी से इंदौर आए रितुराजसिंह को माइक्रोसॉफ्ट ने 80 लाख रुपए का पैकेज ऑफर किया है। 


इंदौर. आईआईटी में एडमिशन का मौका छोड़कर ओरिएंटल यूनिवर्सिटी से बीई करने वाराणसी से इंदौर आए रितुराजसिंह को माइक्रोसॉफ्ट ने 80 लाख रुपए का पैकेज ऑफर किया है। ओरिएंटल यूनिवर्सिटी से 'इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन' में इंजीनियरिंग करने वाले रितुराज को मिले ऑफर ने प्रदेश के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को मिले पैकेज के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। 

80.52 लाख रुपए सालाना वेतन में उन्हें प्रोग्राम मैनेजर की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इतने बड़े पैकेज पर भी रितुराज का माइक्रोसॉफ्ट जॉइन करना निश्चित नहीं है, क्योंकि उनके पास करियर और पहचान बनाने के लिए और भी कई मौके हैं। रितुराज ने जो 100 सॉफ्टवेयर बनाए हैं, उनके दुनियाभर में 30 मिलियन से भी ज्यादा यूजर हैं। इसके अलावा वे 500 से ज्यादा स्टार्टअप की मेंटरिंग भी कर रहे हैं।
ओरिएंटल यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति डॉ.केएल ठकराल ने बताया कि यूनिवर्सिटी में पहले सेमेस्टर से ही स्टूडेंट्स को प्रोफेशनल ट्रेनिंग और वल्र्ड क्लास एक्सपोजर दिए जाते हैं। इसी कारण लगातार अच्छे प्लेसमेंट मिल रहे हैं। रितुराज ने बताया, '2012 की आईआईटी इंट्रेंस में मुझे आईआईटी में एडमिशन का मौका मिला था, लेकिन अपनी पहचान बनाने के लिए मैं इंदौर आया और ओरिएंटल यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया। रितुराज का नाम गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है। यह एक समय में सबसे ज्यादा लोगों को प्रोग्रामिंग सिखाने के लिए मिला। 


30 जुलाई 2015 को माइक्रोसॉफ्ट के यूएसए कैंपस से वेबसाइट के जरिये रितुराज ने 8 घंटे में 18 हजार लोगों को कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग सिखाई थी। इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ने भारत में 'वीमन इनटेकÓ प्रोग्राम शुरू किया था।


-इसमें करीब 40 हजार लड़कियों को जोड़ा गया है।
-100 सॉफ्टवेयर बनाए हैं
-30 मिलियन से भी ज्यादा यूजर दुनियाभर में 



MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned