छेड़छाड़ की शिकार मॉडल ट्विटर पर हो रही ट्रोल

मॉडल ने सोशल मीडिया पर बताई थी पीड़ा, पुलिस ने किया आरोपितों को गिरफ्तार

इंदौर. बीते दिनों मॉडल से हुई छेड़छाड़ के मामले में सोशल मीडिया पर बहस शुरू हो गई है। बुधवार को मॉडल दिनभर ट्विटर पर ट्रोल होती रही। साथ ही कई लोग घटना को लेकर लड़कियों की भी गलती बताते रहे।
गौरतलब है कि घटना रविवार शाम 7.15 बजे की है, लेकिन युवती ने रात 2.30 बजे चोट के फोटो ट्वीट कर अपनी पीड़ा साझा की। सोशल साइट इंस्टाग्राम पर वीडियो पोस्ट किया। हालांकि कुछ लोगों ने पहचान उजागर होने का मसला उठाया तो उसने ट्वीट हटा लिया और अपना नाम भी बदल लिया। शाम 4.30 बजे युवती सामने आई और डीआईजी से मुलाकात के बाद शाम 6 बजे महिला थाने पर बदमाशों के खिलाफ धारा 354 में छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया। संदिग्धों की गाड़ी का मॉडल सामने आने के बाद पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरे की लिंक मिलाती गई और मंगलवार को आरोपी हाथ आ गए। पुलिस के अनुसार लकी गुर्जर पिता अभिमन्यु गुर्जर निवासी परदेशीपुरा व उसके साथी बंटी चौहान पिता रमेश चौहान निवासी लाल गली को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने पूछताछ में घटना से इनकार किया है। उनका कहना है कि गाड़ी की टक्कर से युवती गिर गई थी, इसके बाद वहां से चले गए थे। युवती की मदद के लिए नहीं रुकने की बात का ठीक से जवाब नहीं दे पाए।

आरोपियों का चेहरा सीसीटीवी फुटेज में साफ नहीं दिख रहा है, लेकिन उनकी गाड़ी दिख रही थी। इस पर पुलिस ने गाड़ी और कपड़ों के आधार पर दोनों आरोपियों की तलाश की थी। घटनास्थल से आगे सीसीटीवी कैमरे में आरोपी के चेहरे साफ दिखने लगे थे। चेहरे साफ हुए तो पुलिस ने गाड़ी नंबर के आधार पर दोनों को गिरफ्तार किया है। युवती ने भी उन्हें पहचान लिया है। दोनों हुलिया बदलकर घर में ही दुबके हुए थे। आरोपियों के नाम लक्की (25) पिता अभिमन्यु गुर्जर निवासी परदेशीपुरा व उसके साथी बंटी (22) पिता रमेश चौहान निवासी लालगली है। वारदात में शामिल इनकी बाइक क्रमांक एमपी09-जेएस-5221 भी जब्त की गई है। हालांकि आरोपियों के बयान ने मामले को उलझा दिया है। वह गाड़ी टकराने की बात कह रहे हैं, वहीं युवती अपने बयान पर कायम है। पुलिस आसपास के लोगों के भी बयान ले रही है ताकि स्थिति स्पष्ट हो सके।

...तो छेड़छाड़ की रिपोर्ट क्यों लिखाती

उधर, युवती का कहना है, एक्सीडेंट की बात गलत है। स्कर्ट खींचने का प्रयास ही हुआ था। अगर सिर्फ एक्सीडेंट हुआ था तो वे भागे क्यों। घटना के समय इनकी दाढ़ी बढ़़ी हुई थी। अब क्लीन शेव हैं, यानी पहचान छुपाने की कोशिश कर रहे थे। अगर रोड एक्सीडेंट होता तो मैं छेड़छाड़ क्यों लिखाती?


पुलिस टीम को 20 हजार का इनाम


डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्रा के अनुसार, पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। चालान पेश करने के पहले सारे बिंदु स्प्ष्ट कर लिए जाएंगे। आरोपित की गिरफ्तारी पर टीम को 20 हजार का इनाम दिया है। मामले को लेकर सीएम ने भी युवती को इंसाफ दिलाने के लिए ट्वीट किया था।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned