मां चिल्लाती रही बेटे अभिषेक बचा ले, आंखों के सामने तोड़ दिया दम

मां चिल्लाती रही बेटे अभिषेक बचा ले, आंखों के सामने तोड़ दिया दम

Chintan Vijayvargiya | Publish: Jun, 07 2019 10:00:00 AM (IST) | Updated: Jun, 07 2019 11:27:42 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

तुकोगंज इलाके का मामला, घटना के बाद भाग रहे आरोपी को लोगो ने पकड़ा

इंदौर. रफीक को हम नहीं जानते। वह इलाज के लिए नर्सिंग होम पर आता रहता है। गुरूवार सुबह 9.15 पर वह आया और पिता के बारें में पूछते हुए बोला पत्नी का चेकअप कराना है। मां ने बताया कि पति दिल्ली गए है। उन्होंने रफीक से पत्नी को लेकर आने को कहां। दस बजे वह आया और आवाज लगाई। तब में हॉल में बैठा था। मां ने नर्सिंग होम खोला तो वैसे ही रफीक ने चाकू से हमला शुरू कर दिया। मां चिल्लाई कि अभिषेक मुझे बचा ले। चीख सुनकर वह गया तो मां लहूलुहान थी। रफीक को पकडऩे की कोशिश की तो उसने चाकू से हमला किया और भाग निकला। रफीक के पीछे में भी नीचे दौड़ा। परिचित विजय व मनोज को आवाज लगाई। तब उन्होंने पीछा कर रफीक को पकड़ लिया।

यह आप बीती अभिषेक वर्मा ने बताई। गुरूवार सुबह 10 बजे उनकी मां लता वर्मा की चाकू से गोदकर रफीक ने हत्या कर दी। बचाने में अभिषेक घायल हुआ। जानकारी मिलने पर एसपी मो. युसूफ कुरैशी, सीएसपी बीपीएस परिहार, टीआई तहजीब काजी व एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। रफीक इलाज के बहाने पहुंचा था। लता के घर में ही नर्सिंग होम है जिसे पति डॉ. रामकिशन वर्मा चलाते है। वे दिल्ली गए हुए है। तुकोगंज इलाके में शैलबी हॉस्पिटल के पास आरएस भंडारी मार्ग पर ग्रेटर मालवा नर्सिंग होम है। यहां पर लता (55) पति डॉ. एमवाय अस्पताल में लता का पोस्टमॉर्टम हुआ। पति के लौटने पर परिवार उनका अंतिम संस्कार करेगा। पुलिस ने रफीक पिता रशीद निवासी नारायण सेठ का बगीचा खिलाफ हत्या व हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया है।


दोनो की दूसरी शादी है

सीएसपी बीपीएस परिहार ने बताया कि डॉ. रामकिशन पहली पत्नी के साथ भंवरकुआं इलाके में रहते है। उससे उन्हें तीन बेटियां है। लता से उन्होंने दूसरी शादी की थी। उससे उन्हें एक बेटी बरखा है। बरखा अपने पति से अलग होकर दोनो बच्चों के साथ मां के साथ ही रहती है। वह एक कॉल सेंटर में काम करती है। घटना के समय वह ऑफिस में थी। लता ने भी नागपुर में पहली शादी की थी। बाद में पति से तलाक ले लिया। पहले पति से एक बेटा व बेटी विनिता है। विनिता पहले पति के साथ गुवाहाटी में रहती थी। फिलहाल वह सुखलिया में रहने लगी। अभिषेक के बारें में पता चला है कि जन्म के बाद उसे कोई वर्मा के नर्सिंग होम पर छोड़ गया था। इसी के बाद उसे गोद लेकर परवरिश की। वह लता के साथ ही रहने लगा।


बेटियां हुए बेसुध, बेटा रोता रहा

घटना की जानकारी मिलने पर बेटी विनिता व बरखा घर पहुंचे। जब उन्हें मां की हत्या की जानकारी मिली तो दोनो बदहवास हो गई। परिवार के लोगो ने काफी मुश्किल से दोनो को संभाला। वे कहती रही कि हमारी मां ने किसी का क्या बिगाड़ा था जो उनकी हत्या कर दी। हत्या करने वाले को हमारे हवाले करों उससे हम बदला लेगे। वही बेटा अभिषेक भी मां को याद कर रोता रहा। उसे यही दुख था कि वह मां को बचा नहीं पाया।


इलाज ठीक से नहीं किया तो मार दिया

मौके से पकड़ाए आरोपी रफीक को तुकोगंज थाने लाया गया। उसका कहना है कि उसे चर्म रोग था। छह महीने से वह इंजक्शन लगवाने के लिए जा रहा था। बीमारी ठीक नहीं होने को लेकर गुरूवार को लता से विवाद हो गया। इसी के चलते उसने हत्या कर दी। हांलाकि पुलिस को यह कारण गले नहीं उतर रहा है। चूंकि रफीक चाकू लेकर पहुंचा था इससे लग रहा है कि योजनाबद्ध तरीके से हत्या को अंजाम दिया गया। रफीक पेशे से कबाड़ी है। उसने वर्ष 2015 में परदेशीपुरा इलाके में अपने साथी कबाड़ी हमीद की लेन देन विवाद में हत्या कर दी। फिलहाल वह मामले में जमानत पर है। पुलिस टीम उसे मनोवैज्ञानिक रूप से पूछताछ कर हत्या की वजह पता कर रही है। उसकी कॉल डिटेल भी पुलिस देख रही है।


प्रॉपर्टी विवाद, सुपारी किलिंग पर जांच

जिस मकान में डॉ. रामकिशन का नर्सिंग होम है वह किराए का है। यहां पर तीन-चार और किराएदार रहते है। सीएसपी परिहार ने बताया कि यह जगह किसी खंडेलवाल की थी। ४० साल से वर्मा यहां नर्सिंग होम चला रहे है। खंडेलवाल ने यह जगह अमित शाह निवासी पलासिया व माहेश्वरी को बेच दी। इसके बाद कुछ लोग वर्मा के पास जगह खाली करने की बात करने आए थे। तब जगह खाली करने के बदले वर्मा ने डेढ़ करोड़ रुपए मांगे थे। उनके प्रस्ताव के बाद कोई बात करने नहीं आया। ये जानकारी वर्मा के बच्चों ने पुलिस को दी है। पुलिस अब जमीन मालिको की जानकारी निकाल रही है। पुलिस की जांच में प्रॉपर्टी विवाद, सुपारी किलिंग का बिंदु भी शामिल है। महिला के पति के दिल्ली से लौटने पर पुलिस उनसे सभी बिंदुओ पर जानकारी लेगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned