इंदौर फिर बना नंबर वन, रितु नरवाल बनी एमपी की पहली महिला बस ड्राइवर, 2 पिंक बसों को दिखाई गई हरी झंडी

महिला ड्राइवर द्वारा संचालित मध्‍य प्रदेश की पहली यात्री बस का संचालन शुरू
रितु और अर्चना ने बस चलाई, परिचालक भी महिला

By: Ashtha Awasthi

Published: 07 Sep 2021, 05:13 PM IST

इंदौर। शहर ने एक बार फिर इतिहास रचते हुए दो पिंक बसों में महिला ड्राइवरों को तैनात कर दिया है। खास बात यह है, इस बस में चालक-परिचालक दोनों ही महिला हैं। रितु नरवाले और अर्चना कटारे ने यात्रियों से भरी बसें चलाई जिन्हें पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने हरी झंडी दिखाई। एआइसीटीएसएल ने पिंक बस की शुरुआत की है। इसके लिए महिला ड्राइवरों को ट्रेनिंग देने का काम लंबे समय से चल रहा था। तड़के बीआरटीएस पर रितु और अर्चना को बस चलाने की ट्रेनिंग दी गई।

पिछले दिनों यात्रियों के साथ ट्रायल के लिए राजीव गांधी से देवास नाका तक एक ट्रिप भी लगाई गई। एआइसीटीएसएल प्रबंधन ने सोमवार से पिंक बस पर स्थाई रूप से महिला, ड्राइवर नियुक्त कर दी। सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक 5 फेरे लगाए। बस का संचालन निरंजनपुर से राजीव गांधी चौराहे तक हुआ। दोनों ने पूरे आत्मविश्वास और कुशलता से आइबस का संचालन किया। इस दौरान पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर, विधायक मालिनी गौड़, निगमायुक्त प्रतिभा पाल आदि मौजूद रहीं।


यह पिंक बसें सीसीटीवी कैमरे, ऑन बोर्ड यूनिट, सेंसर डोर के साथ महिला सशक्तिकरण संबंधी सुविचारों से सुसज्जित है। ये बसें महिला ड्राइवर के साथ प्रातः 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक 5 फेरे (निरंजनपुर - राजीव गांधी - निरंजनपुर) लगाएंगी। (तत्पश्चात बस का संचालन महिला परिचालक के साथ रात्रि 10:15 तक किया जायेगा।) प्रतिदिन इन दो पिंक बसों में लगभग 2000 महिलाएं सफर कर सकेंगी।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned