इस सवाल के जवाब के बाद MP की गर्ल को मिल गया मिस फिटनेस इंडिया का खिताब

- मिस फिटनेस इंडिया मुक्ता से पत्रिका की विशेष बातचीत
- कहा- हॉस्पिटल में आधे घंटे लाइन में लगने से अच्छा है 15 मिनट फिटने के लिए निकालो
- इंदौर में महिलाओं के लिए चलाती है फिटनेस सेंटर

By: हुसैन अली

Published: 11 Sep 2019, 07:25 PM IST

इंदौर. शहर की मुक्ता सिंह ने मिस फिटनेस इंडिया कॉम्पीटिशन का खिताब अपने नाम किया है। कॉम्पीटिशन के फाइनल राउंड में पूछे गए सवाल के जवाब में जज इम्प्रेस हुए और मुक्ता सिंह ने यह खिताब हासिल कर लिया।

must read : ‘मैं MA कर रही हूं और प्रवीण से मेरा अफेयर चल रहा है, लडक़े मुझ पर से ध्यान हटाएं’

इंदौर लौटकर मुक्ता ङ्क्षसह ने पत्रिका से चर्चा में बताया कि मुझसे यह भी पूछा गया कि फिटनेस के प्रति अवेयरनेस कैसे बढ़ाई जा सकती है। इस पर मैंने इंदौर में चल रहे फिटनेस कार्यक्रमों का उदाहरण देते हुए कहा, हमारे शहर में अधिकतर गार्डन, क्लब और सेमिनार में फ्री फिटनेस सेशन लिए जाते हैं और लोगों को जागरूक करने का यह सबसे बेस्ट तरीका है। यदि हम उन्हें सीधे जिम जाने के लिए कहेंगे तो वे कभी भी जिम नहीं जाएंगे। हमें उन्हें डांसिंग, साइकिलिंग, रनिंग और जुंबा जैसी एक्सरसाइज के प्रति अवेयर करना होगा। इस तरह की सभी एक्सरसाइज सिर्फ 15 से 20 मिनट का समय लेती हैं और बॉडी में जबरदस्त बदलाव लाती हैं। यदि कोई व्यक्ति खुद के लिए सिर्फ 15 मिनट निकालने लगेगा तो धीरे-धीरे फिटनेस के प्रति उसका इंटरेस्ट डवलप होने लगेगा।

must read : हप्पू सिंह से पूछते थे पिताजी ... टीवी पर अपना चेहरा कब दिखाओगे

कसरत से दूर भाग रहे हैं हम

फिटनेस के लिए भारत में अन्य देशों की तुलना में बेहद कम अवेयरनेस है। शिक्षा, पर्यावरण और अन्य कई क्षेत्रों में हमारा देश बहुत बेहतर स्थिति में है, लेकिन फिटनेस के प्रति हम लोग बहुत कम सोचते हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह है हमारा मनी माइंडेड या लेजी होना। अधिकतर लोग या तो सिर्फ पैसे कमाने के लिए पूरा दिन नौकरी में दे रहे हैं या फिर आलस की वजह से किसी भी तरह के व्यायाम से दूर भाग रहे हैं। देखा जाए तो हमारे पास खुद के लिए सिर्फ 15 मिनट का भी समय नहीं है। यह बात हमें तब समझ आती है, जब हमें खुद के लिए समय न निकालकर एक दिन डॉक्टरों के लिए समय निकालना पड़ता है।

must read : दीपावली का मजा न हो जाए किरकिरा, सुरक्षा के लिए याद रखें ये 20 टिप्स

जॉब करने वाले लाइट एक्सरसाइज से करें शुरुआत

मुक्ता ने बताया कि वे इंदौर में महिलाओं के लिए फिटनेस सेंटर चलाती हैं। नौकरी करने वाली महिलाओं को हमेशा लाइट एक्सरसाइज के लिए प्रेरित करती हैं। वे कहती हैं कि आप दिनभर यदि ऑफिस में हैवी वर्कलोड में काम कर रहे हैं तो जिम की हैवी एक्सरसाइज से शुरुआत कभी भी नहीं करना चाहिए। महिलाएं घर पर भी 7 दिन का शेड्यूल डिजाइन कर सकती हैं। इसमें वे रोज 15 मिनट डांस, रनिंग, मेडिटेशन, म्यूजिक जैसे अलग-अलग सेशन को दे सकती हैं। उन्होंने कहा, स्वस्थ शरीर के लिए स्वस्थ मन भी बहुत जरूरी है, इसलिए हमें इन 15 मिनट में मेडिटेशन जैसी चीजों को भी शामिल करना चाहिए।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned