‘तुम्हारे घर के सामने गड्ढे खुदवा दूंगा, तब समझ में आएगा जनता का दर्द’

‘तुम्हारे घर के सामने गड्ढे खुदवा दूंगा, तब समझ में आएगा जनता का दर्द’

Hussain Ali | Updated: 09 Jul 2019, 03:20:41 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

जलप्रदाय के कार्यपालन यंत्री को निगमायुक्त ने लगाई भरी बैठक में फटकार

इंदौर. शहर में डाली जा रही पाइप लाइन के लिए खोदे जाने वाली सडक़ों को दोबारा सही नहीं करने के कारण फैल रहे कीचड़ और गंदगी के कारण हो रही जनता की परेशानी को लेकर सोमवार को निगमायुक्त आशीष सिंह, अधीनस्थ अफसरों पर भडक़ गए। उन्होंने निगम के जलप्रदाय व्यवस्था के कार्यपालन यंत्री संजीव श्रीवास्तव को यहां तक कह दिया ‘तुम्हारे घर के सामने गड्ढे खुदवा दूंगा, तब समझ में आएगा जनता का दर्द।

must read : नूडल्स में निकला कीड़ा, ZOMATO पर ठोंका 20 हजार रुपए का हर्जाना

फील्ड पर जाते नहीं तो गाड़ी की क्या जरूरत

यही नहीं, कार्यपालन यंत्री को यहां तक कह दिया खुद फील्ड पर जाकर कभी कुछ करते हो। फील्ड पर जाते नहीं हो, जो उपयंत्री, सहायक यंत्री लिखकर दे देते हैं उसे ही सही बता देते हो। तुम्हारे उपयंत्री, सहायक यंत्री ठेकेदारों से मिलकर उनके मन मुताबिक रिपोर्ट बनाते हैं, तुम देखते तक नहीं हो। फील्ड पर जाते नहीं हो तो गाड़ी की क्या जरूरत है। गाड़ी लेकर बाइक अलॉट कर दूंगा। उसी से फील्ड पर जाना।

must read : 6 साल के छोटे भाई के सामने 12वीं की छात्रा ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

सिंह का गुस्से का कारण निगम द्वारा डाली जा रही जलप्रदाय लाइनों सहित अन्य लाइनों के डालने के बाद उनके रिस्टोरेशन के काम में बरती जा रही लापरवाही थी। निगमायुक्त ने सोमवार को समय सीमा में होने वाले कामों की समीक्षा बैठक रखी थी। इसमें उन्होंने सडक़ों की खुदाई के बाद उनके रिस्टोरेशन के काम की समीक्षा की। सिंह ने पूर्व में निर्देश दिए थे, जहां लाइन खोदी जाए, वहां पर काम खत्म होते ही पेवर ब्लॉक लगा दिए जाएं, जिससे कीचड़ और गंदगी न फैले। लेकिन समीक्षा के दौरान कई जगह पर पेवर का काम नहीं होने से वे नाराज थे।

पेयजल आपूर्ति और ड्रेनेज लाइन निराकरण के निर्देश

निगमायुक्त ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बन रहे मकानों की समीक्षा करने के साथ ही वहां पर पेयजल आपूर्ति एवं सीवरेज तथा ड्रेनेज लाईन का निराकरण करने के संबंध में भी निर्देश जारी किए। राजस्व विभाग की समीक्षा करते हुए होर्डिग्स-विज्ञापन से होने वाली आय बढ़ाने के लिए भी निर्देश जारी किए। अनुराधा नगर में निगम द्वारा बनाया गया चेंबर बारिश के दौरान धंस गया था।

must read : भनक लगते ही रुपए भरकर कचरे में फेंका बैग, अफसरों को मिला करोड़ों का खजाना

इसको लेकर निगमायुक्त नाराज हुए। बारिश के दौरान बार-बार शहर में भराने वाले पानी को लेकर भी वे नाराज दिखे। उन्होंने साफ कहा, बारिश के दौरान जल जमाव कहां होता है अब सबको पता है, वहां से पानी निकासी की व्यवस्था वो तय कर लें और चेंबर सफाई, स्ट्रार्म वाटर लाइन की सफाई सहित अन्य व्यवस्था कर लें। अब यदि कहीं भी कोई दिक्कत हुई तो सीधे कार्रवाई की जाएगी।

20 जुलाई तक पूरा हो नई दुकानों का काम

बैठक के दौरान नंदलालपुरा सब्जी मंडी, जिंसी हाट मैदान में स्मार्ट सिटी के तहत बनाई जा रही दुकानों के कामों की समीक्षा भी की। निगमायुक्त ने सभी दुकानों का बचा हुआ काम और आवंटन प्रक्रिया 20 जुलाई तक पूरा करने के लिए भी अधीक्षण यंत्री स्मार्ट सिटी और उपायुक्त मार्केट नगर निगम को निर्देश जारी किए। उन्होंने समय सीमा बैठक को लेकर भी निर्देश जारी किए कि वे हर सोमवार शाम को अब निगम और स्मार्ट सिटी के कामों की समीक्षा करेंगे। इसमे निगम केसभी अपर आयुक्त, विभाग प्रमुख, जोनल अधिकारी, भवन अधिकारी, भवन निरीक्षक मौजूद रहेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned