सनसनीखेज : हत्याकांड के मुख्य गवाह की आंखों में मिर्च झोंकी और चाकू से गोद-गोदकर मार डाला

सनसनीखेज : हत्याकांड के मुख्य गवाह की आंखों में मिर्च झोंकी और चाकू से गोद-गोदकर मार डाला
सनसनीखेज : हत्याकांड के मुख्य गवाह की आंखों में मिर्च झोंकी और चाकू से गोद-गोदकर मार डाला

Hussain Ali | Updated: 21 Sep 2019, 01:50:26 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

- तुकोगंज इलाके में वारदात, दोनों पक्षों में काफी समय से चल रहा विवाद

चिंतन विजयवर्गीय @ इंदौर. परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में हुई हत्या के मामले में मुख्य गवाह की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। वारदात में दो लोगों के नाम सामने आए हैं, जो पहले हुई हत्या में भी शामिल रहे हैं।

must read : पेट्रोल-डीजल के बाद अब सांची ने महंगा किया दूध, ये हैं नए भाव

तुकोगंज थाना क्षेत्र के बाल विनय मंदिर के पास शुक्रवार शाम 4.30 बजे नीलेश उर्फ बाबू (24) पिता ग्यानदेव यादव निवासी शिवाजी नगर पर चाकू से हमला किया गया। ऑटो चालक नीलेश बाल विनय मंदिर से बच्चों को लेने आया था। उसी दौरान पहुंचे तीन बदमाशों ने उसकी आंखों में मिर्ची झोंकी, फिर चाकू से 3-4 वार कर दिए। इससे वह जमीन पर गिर गया। लोगों ने उसे एमवाय अस्पताल भिजवाया, जहां दम तोड़ दिया।

must read : तड़के धड़ाम से नाले में जा गिरा मकान, पिलर धंसे, ढह गया आशियाना

2017 में हुई हत्या का मुख्य गवाह था

जानकारी मिलने पर परिजन अस्पताल पहुंचे। टीआइ निर्मल श्रीवास ने बताया, वर्ष 2017 में मालवा मिल सब्जी मंडी के पास नीलेश के चचेरे भाई भगवान दलवी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में वह मुख्य गवाह था। घटना में फिलहाल पपिया उर्फ सुजीत और विक्का उर्फ विकास के नाम सामने आए हैं। अन्य आरोपियों की भूमिका आने पर उनका नाम भी बढ़ाया जाएगा। पुलिस ने पहले हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया था। अब हत्या की धारा बढ़ाई जा रही है। भगवान की हत्या में शामिल रहे पपिया व विक्का जमानत पर बाहर हैं।

must read : आरती दयाल और निगम इंजीनियर को मोनिका ने किया था कैमरे में कैद

परिजन का आरोप, पुलिस ने नहीं दिया ध्यान

भगवान की हत्या के बाद से दोनों पक्षों में विवाद चल रहा है। दोनों ने एक-दूसरे पर कई केस भी दर्ज कराए। भगवान के परिजन कई बार पुलिस को शिकायत कर चुके हैं कि उन्हें केस में समझौते व गवाही बदलने के लिए धमकी मिल रही है। दो महीने में भगवान की मां, नीलेश के परिजन ने परदेशीपुरा थाने में तीन केस दर्ज कराए, इसके बाद भी पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। इसी के चलते ये घटना हुई। नीलेश के परिवार में मां, बड़ा भाई, भाभी व दो बहनें हैं। पिता काफी समय से लापता हैं। परिवार का आरोप है, हत्या में पपिया, विक्का के अलावा कुणाल, प्रदीप व विजय भी शामिल हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned