ठेकेदार के मजदूर खुले में कर रहे थे शौच, नगर निगम ने वसूला 10 हजार का जुर्माना

  • परदेशीपुरा क्षेत्र में चल रहा है भवन निर्माण का कार्य

By: हुसैन अली

Published: 03 Dec 2019, 08:45 AM IST

इंदौर. परदेशीपुरा क्षेत्र में भवन निर्माण ठेकेदार के मजदूर खुले में शौच कर रहे थे। इस पर नगर निगम के अफसरों ने कार्रवाई कर ठेकेदार से 10 हजार रुपए का जुर्माना वसूल किया है। इसके साथ ही लेबर के लिए शौचालय बनाने तक निर्माण कार्य पर रोक अलग लगा दी गई है।

स्वच्छता सर्वेक्षण लीग-2020 में शहर को खुले में शौच मुक्त घोषित कराकर ओडीएफ डबल प्लस का खिताब पाने के लिए निगम का पूरा अमला लगा है। इसके लिए रोजाना सुबह ५ बजे से निगम के अफसर शहर में घूमकर देख रहे हैं कि कोई खुले में शौच तो नहीं कर रहा। इसके साथ ही सार्वजनिक-कम्युनिटी शौचालयों और पब्लिक टॉयलेट की हालत भी सुधारी जा रही है, क्योंकि ओडीएफ डबल प्लस को लेकर सर्वे दल दो-चार दिन में कभी भी आ सकता है। इसलिए निगम के अफसर लगातार खुले में शौच मुक्त पर नजर रखे हुए हैं। बावजूद इसके कई लोग खुले में शौच कर रहे हैं, क्योंकि निगम स्वास्थ्य विभाग अमले ने जोन क्रमांक 17 के वार्ड 23 में आने वाले परदेशीपुरा स्थित सामाजिक न्यास परिसर में भवन निर्माण ठेकेदार त्रिलोक वर्मा पर कार्रवाई की है।

ठेकेदार द्वारा अपने मजदूरों के लिए शौचालय की व्यवस्था नहीं की गई तो वह खुले में शौच कर रहे थे। इस पर निगम उपायुक्त प्रताप सिंह सोलंकी और सीएसआई राजेश सिंह तोमर ने ठेकेदार वर्मा के खिलाफ कारवाई करते हुए १० हजार रुपए का दंड लगाकर वसूल किया। इसके साथ ही मजदूरों के लिए शौचालय की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। शौचालय बनने तक निर्माण कार्य पर रोक अलग लगा दी गई। मालूम हो कि निगम सुलभ कॉम्पलेक्स में गंदगी मिलने पर भी जुर्माना लगाकर वसूली की जा रही है।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned