शहर में अब नगर निगम बनाएगा पिंक टॉयलेट, महिलाएं ही करेंगीं संचालन

पीपीपी मॉडल पर होगा निर्माण, महिलाओं को मिलेगी सुविधा

इंदौर. नगर निगम पिंक टॉयलेट के रूप में महिलाओं व युवतियों को बड़ी सौगात देने जा रहा है। शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में ये बनाए जाएंगे। टॉयलेट का निर्माण स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत पीपीपी मॉडल पर किया जाएगा। इसमें निगम का एक रुपया नहीं लगेगा।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत निगम ने शहर में सार्वजनीक और सामूदायिक शौचालयों के साथ पब्लिक यूरिनल बनवाए। जहां पर पब्लिक यूरिनल बनाए गए, उनके पास ही महिलाओं के लिए टॉयलेट बनाए हैं। कई जगह पुरुष और महिला यूरिनल पास-पास होने से महिलाएं असहज महसूस करती हैं। इनका उपयोग नहीं करतीं और उन्हें असुविधा अलग होती है। सबसे बड़ी समस्या मुख्य बाजारों में होती है, जहां महिलाओं के लिए व्यवस्थित टॉयलेट्स नहीं हैं। ऐसे में अब निगम ने महिलाओं को सुविधा देने के लिए पिंक टॉयलेट बनाने की प्लानिंग की है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत पब्लिक प्रायवेट पाटर्नशिप (पीपीपी) मॉडल पर ये टॉयलेट बनाएंगे। इसके लिए टेंडर जारी कर दिए हैं। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट अफसरों के अनुसार पीपीपी मॉडल पर पिंक टॉयलेट बनाने से निगम का एक रुपया खर्च नहीं होगा। साथ ही महिलाओं को सुविधा अलग मिलेगी।

मालूम हो कि पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी ने जहां स्कीम-78 के पास अरण्य में पिंक जोनल ऑफिस खोल रखा है, वहीं हाल ही में एआईसीटीएसएल ने बीआरटीएस में महिलाओं के लिए पिंक बस का संचालन शुरू किया है। अब निगम पिंक टॉयलेट बनाने जा रहा है।

जगह की तलाश जारी पिंक टॉयलेट बनाने के लिए निगम शहर में जगह की तलाश कर रहा है। शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में टॉयलेट बनाने के लिए जगह चिह्नित की जा रही है। अभी विजय नगर, राजबाड़ा के आसपास और पलासिया आदि क्षेत्र में जगह देखी गई है।

महिलाएं ही करेंगीं संचालन

पिंक टॉयलेट का संचालन महिलाए ही करेंगीं, ताकि यहां आने वाली महिलाओं को असुविधा न हो। साथ ही वह सुरक्षित रहें। टॉयलेट का संचालन महिला द्वारा करने की शर्त को टेंडर में भी शामिल किया गया है।

विज्ञापन का रहेगा अधिकार

पीपीपी मॉडल पर बनने वाले पिंक टॉयलेट्स पर विज्ञापन करने का अधिकार निर्माण एजेंसी का रहेगा। विज्ञापन से होने वाली आय के जरिए वह टॉयलेट का रखरखाव और संचालन करेगा। विज्ञापन की आय से मिलने वाली राशि का कुछ हिस्सा निगम को देगा। अब यह राशि कितनी रहेगी, वह तय नहीं की गई है।

जल्द ही होगा निर्माण

महिलाओं के लिए शहर में पीपीपी मॉडल पर पिंक टॉयलेट बनाएंगे। इनका संचालन भी महिलाएं ही करेंगीं। टेंडर प्रक्रिया पूरी होते ही टॉयलेट निर्माण शुरू होगा। इसके लिए शहर के अलग-अलग क्षेत्र में जगह चिह्नित कर रहे हैं।
- डीआर लोधी, अधीक्षण यंत्री, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट

Patrika
हुसैन अली
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned