नशे पर पोर्टल से शिकंजा कसने की तैयारी, ऑनलाइन दर्ज होगी शिकायत

प्रदेश में पहली बार होगी शुरुआत : गोपनीय रहेगा शिकायतकर्ता का नाम

By: रमेश वैद्य

Published: 27 Jul 2021, 07:47 PM IST

इंदौर. नशा बेचने, खरीदने और नशा करने वालों की शिकायत के लिए अब लोगों को पुलिस या नारकोटिक्स विभाग के पास नहीं जाना पडेग़ा। वे ऑनलाइन ही अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हंै। वहीं उनका नाम भी गोपनीय रहेगा।
प्रदेश में पहली बार नारकोटिक्स विंग द्वारा ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया जा रहा है। इसका पूरा प्लान तैयार हो गया है। बस औपचारिकाता ही बाकीहै। नारकोटिक्स एसपी गीतेश गर्ग ने बताया, मिनी मुंबई कहे जाने वाला इंदौर शहर अब नशे में भी ग्रो कर रहा है। इस पर लगाम लगाने के लिए हमारी टीम तो काम कर रही है, लेकिन अब हम आम जनता से भी मदद लेंगे। दरअसल नशे के बड़े सौदागरों और पैडलरों पर तो हमारी टीम की पैनी नजर रहती है, लेकिन छोटे-छोटे नशे के सौदागर और पैडलरों तक पुलिस इसलिए नहीं पहुंच पाती, क्योंकि वे गली-मोहल्ले में चोरी-छिपे नशा बेचते हैं। ऐसे नशा बेचने वालों पर शिकंजा कसने के लिए ही हम एक ऑनलाइन पोर्टल तैयार कर रहे हैं। इसमें आम जनता अपने आस-पास बिकने वाले नशे के ठिए और नशे के सौदागरों की जानकारी साझा कर सकेगी। खास बात यह है, हमें जो भी सूचना मिलेगी उसे पूरी तरह से गोपनीय रखेंगे और तुरंत कार्रवाई करेंगे। पोर्टल को डिजाइन करते समय इस बात पर खास ध्यान दिया है कि कोई भी इस पर आसानी से अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है, यानी यह पोर्टल पूरी तरह से फ्रेंडली रहेगा। हालांकि अभी इस वेबसाइड का नाम तय नहीं हुआ है।
नशे की गिरफ्त से निकालेंगे
गर्ग ने बताया, नशे के सौदागरों पर कार्रवाई के साथ नशे की लत में पड़े हर उम्र के लोगों को भी इस दल-दल से निकालने का प्रयास किया जाएगा। इस पोर्टल में एक हेल्पलाइन नंबर भी होगा। यदि नशे की लत में फंसे परिजन को नशा छुड़ाना हो तो वे हमें कॉल कर सकते हैं। हमारी एक काउंसलिंग टीम भी बनी है। यदि कॉल करने वाला व्यक्ति सेंटर पर आता है तो उसे नशे की गिरफ्त बाहर निकालने के लिए हमारी टीम उसकी कांउसलिंग करेगी। यदि वह नहीं आ सकता तो टीम कॉल पर ही उसकी काउंसलिंग करेगी।

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned