इंदौर. सूचना और प्रसारण मंत्रालय के इंदौर स्थित क्षेत्रीय लोक सम्पर्क ब्यूरो (एफओबी) ने रविवार को रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस मनाया। खजराना स्थित नाहरशाह वली दरगाह के समीप शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के परिसर में आयोजित कार्यक्रम में पार्षद उस्मान पटेल, इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जडिया, मिशन इंद्रधनुष खजराना क्षेत्र के प्रभारी डॉ. जफर पठान, जिला परियोजना अधिकारी डॉ. भार्गव, दरगाह कमेटी के सदर अरब अली पटेल, वरिष्ठ समाजसेवी मो. इकबाल खान और युनूस पटेल विशेष रूप से मौजूद थे। अतिथियों ने पांच वर्ष तक की आयु के बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई।
राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान टीकाकरण पर आधारित प्रश्नमंच दर्शकों के आकर्षण का केंद्र बना रहा। प्रश्नमंच में बच्चों सहित सभी आयु वर्ग के लोगों ने उत्साह के साथ भाग लिया। सही उत्तर देने वालों को अतिथियों ने पुरस्कार प्रदान किये।

इस अवसर उज्जैन के भारती कला मंडल के लोक कलाकारों ने राष्ट्रीय गीत, भवई और कान ग्वालिया के साथ राजस्थान, गुजरात आदि राज्यों के लोक नृत्यों की शानदार प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन क्षेत्रीय लोक सम्पर्क ब्यूरो के सहायक निदेशक मधुकर पवार ने किया। सेवानिवृत्त क्षेत्रीय प्रचार सहायक किशोर गाठिया ने आभार माना।

उस्मान पटेल ने कहा, बच्चे देश का भविष्य है और हम सबको उनके स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। नियमित टीकाकरण से बच्चे महफूज रहेंगे। अरब अली पटेल ने कहा, टीकाकरण की जिम्मेदारी केवल स्वास्थ्य विभाग की ही नहीं बल्कि सभी अभिभावकों की है इसलिये सभी माता पिता का कर्तव्य है कि वे बच्चों को पोलियो की दवा पिलायें और टीका जरूर लगवायें। समाजसेवी मो. इकबाल खान ने नागरिकों से स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता बताते हुये कहा कि आप सभी के योगदान से इंदौर चौथी बार भी देश में पहले स्थान पर आयेगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छता का स्वास्थ्य से सीधा सम्बंध है और स्वच्छता के कारण गंदगी से होने वाली बामारियों की संख्या में काफी कमी आई है।

मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जडिया ने बताया कि बच्चों के पांच साल-सात बार और छूटे न टीका एक बार के सिद्धांत पर मिशन इंद्रधनुष का दूसरा चरण शुरू किया गया है। नियमित टीकाकरण से बच्चों को दस जानलेवा बीमारियों से बचाया जा सकता है। उन्होंने बताया, देश में सन 2011 से पोलियो का एक भी प्रकरण दर्ज नहीं हुआ है लेकिन पड़ोसी देशों पोलियो के प्रकरण दर्ज होने की सूचना के कारण एहतियात के तौर पर पोलियो के विषाणु से बचाव के लिये नियमित टीकाकरण किया जा रहा है। उन्होंने अभिभावकों से अनुरोध किया कि वे अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने के लिये नियमित टीकाकरण जरूर करवायें।

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned