scriptNeed for fifth pass, even those with PhD in queue | भारत में 3.50 करोड़ लोग नौकरी से ज्यादा शिक्षित | Patrika News

भारत में 3.50 करोड़ लोग नौकरी से ज्यादा शिक्षित

- जरूरत पांचवीं पास की, कतार में पीएचडी वाले भी

- आइआइएम इंदौर के शोध की सीरीज

इंदौर

Published: June 28, 2022 08:00:59 am

भोपाल। भारत जैसे विकासशील देशों में स्किल इंडिया जैसी नीतिगत पहल कितनी कारगर होंगी यह तो वक्त बताएगा, लेकिन इसका दूसरा पहलू यह है कि भारत में अभी भी योग्यता के मुताबिक लोगों को काम नहीं मिल पा रहा है। करीब 3.50 करोड़ लोग ऐसे हैं, जो कम वेतन और कम शैक्षणिक योग्यता वाली नौकरियों से जुड़े हुए हैं।

patrika_business_study.jpg

इसका अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि अगर किसी भी विभाग में छोटे पदों के लिए वैकेंसी निकलती है तो ग्रेजुएट से लेकर पीएचडी होल्डर तक अप्लाई करने लगते हैं। उत्तर प्रदेश पुलिस में जब कक्षा पांच की न्यूनतम शिक्षा की जरूरत वाले 62 दूतों के पदों की वैकेंसी निकली तो 3700 पीएचडी, 28000 स्नातकोत्तर और 50000 स्नातकों ने आवेदन किया था। हैरानी की बात यह है कि ऐसी स्थितियां सिर्फ सरकारी नौकरी के लिए नहीं, बल्कि प्राइवेट सेक्टरों में भी है।

नौकरी की जरूरत से ज्यादा पढ़े-लिखे
भारतीय प्रबंधन संस्थान इंदौर की फैकल्टी प्रो. अजय शर्मा और भारतीय प्रबंधन संस्थान रोहतक की प्रो. श्वेता बहल ने इस विषय पर शोध करते हुए पाया कि लगभग 19 प्रतिशत (पुरुषों में 21% और महिलाओं में 13%) मजदूर और वेतनभोगी श्रमिक नौकरी की जरूरत से ज्यादा शिक्षित हैं। इनकी संख्या करीब 3.50 करोड़ के आसपास है।

अधिक शिक्षित को कम वेतन
सर्वेक्षण में जब श्रमिक और कर्मचारियों के वेतन पर गौर किया गया तो इसमें भी विसंगति सामने आई। दोनों के वेतन की तुलना में पता चला कि उच्च माध्यमिक शिक्षा प्राप्त श्रमिक 406 रुपए दैनिक मजदूरी पाते हैं, जबकि अति शिक्षित श्रमिकों को 229 रुपए मजदूरी मिलती है।

यही असमानता स्नातक और उससे ऊपर की शिक्षा में भी है, जो अनुपातिक रूप में 744 और 549 रुपए के रूप में देखने को मिला। इससे यह भी स्पष्ट है कि अधिक शिक्षित को कम वेतन मिलने के साथ ही वे कम शैक्षणिक योग्यता वाली नौकरियों में अटके हुए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नामबिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Google ने दिल्ली हाई कोर्ट को दी जानकारी, हटाए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के खिलाफ पोस्ट वेब लिंक'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी कीAsia Cup 2022 के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, विराट कोहली-केएल राहुल की हुई वापसी'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.