scriptNeither plot nor money, ancestral house was also sold | प्लॉट मिला ना पैसा, पुश्तैनी घर भी बिक गया | Patrika News

प्लॉट मिला ना पैसा, पुश्तैनी घर भी बिक गया

जमीन के जालसाजों के फेर में उलझा परिवार, अब किराए के मकान में रहने को मजबूर
प्लॉट देने की शर्त पर जेल से छूटे माफिया, छान रहे मस्ती

इंदौर

Updated: April 11, 2022 11:38:29 am

इंदौर. अपना मकान बैंक में बंधक रखकर लोन लिया। उन रुपयों से इंदौर में प्लॉट लेकर बसने का इरादा था, लेकिन जालसाजों के चक्कर में फंस गए। ना प्लॉट मिला और ना पैसे। घर का मकान अलग बिक गया। अब परिवार किराए के मकान में रह रहा है। इधर, जेल से छूटकर आए जालसाज मस्ती मार रहे हैं।
प्लॉट मिला ना पैसा, पुश्तैनी घर भी बिक गया
प्लॉट मिला ना पैसा, पुश्तैनी घर भी बिक गया
मामला नीमच निवासी गोपाललाल अग्रवाल का है। उनका नीमच में मकान था। तीन बेटियों की पढ़ाई को देखते हुए इंदौर में शिफ्ट होना चाहा। कालिंदी गोल्ड सिटी कॉलोनी पसंद आई। जी ब्लॉक में 282 से 287 तक छह प्लाॉट खरीद लिए। रुपयो का इंतजाम करने के लिए अग्रवाल ने निजी बैंक में घर गिरवी रखकर पूरा पैसा जमा करा दिया। उसके बाद से मुसीबत का दौर शुरू हो गया। कालिंदी गोल्ड सिटी काटने वाले जमीन के जालसाज चिराग शाह और हैप्पी धवन सहित अन्य जालसाजों ने चक्कर खिलाना शुरू कर दिए। हालत ये है कि अग्रवाल को बैंक में पैसा नहीं चुकाने पर अपने परंपरागत मकान से हाथ धोना पड़ गया। मकान बिक गया, जिसके चलते अब किराए के मकान में रहना पड़ रहा है। हर बार शासन जब भी माफिया के खिलाफ मुहिम चलाता है, अग्रवाल को उम्मीद जाग जाती है कि न्याय मिलेगा। 17 अक्टूबर 2020 को भी आवेदन दिया था, जो फाइल आज तक चल रही है।
जालसाजी के मामले में धवन जेल में बंद था। सुप्रीम कोर्ट में पीडि़तों को प्लॉट दिलाने की बात जब प्रशासन ने की, तब उन्हें जमानत मिली। उस दौरान कहा जा रहा था कि 30 मार्च 2022 तक प्लॉट मिल जाएंगे लेकिन अब तक कोई नाम नहीं ले रहा है, जबकि प्लॉट देने की शर्तों पर छूटकर आए जालसाज मजे मार रहे हैं। अग्रवाल ने कलेक्टर मनीष सिंह को एक बार फिर गुहार लगाई है कि आर्थिक व पारिविारिक स्थिति बहुत खराब है, मुझे प्लॉट दिलाए जाएं।
महंगी गाड़ी में आता है जालसाज चम्पू
सैटेलाइट हिल्स और फीनिक्स कॉलोनी में लोगों से पैसे हड़पकर प्लॉट नहीं देने पर पीडि़तों ने जालसाज चंपू अजमेरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। कमल नाथ की सरकार में चंपू की जमकर फजीहत हुई, उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। अब दो माह पहले पीडि़तों को प्लॉट देने की जमानत पर छूटकर आया। पीडि़तों को प्लॉट तो नहीं मिले लेकिन जेल की गाड़ी में कोर्ट जाने वाला अजमेरा अब लग्जरी नई गाड़ी में कलेक्टोरेट जरूर आता है। अफसरों के ऑफिस से बाहर लगी टेबल पर बैठने की जगह नहीं मिलती थी लेकिन अब हालात बदल गए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Lunar Eclipse 2022: सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण हो गया है शुरू, क्यों कहा जा रहा 'ब्लड मून', जानिए भारत से कैसे और कहां दिखेगापीएम मोदी आज बुद्ध की जन्म और निर्वाण स्थली पर माथा टेकेंगे, जानें आज पूरे दिन का कार्यक्रमयूपी के नए मंत्रियों को आज राजधानी में गुरूमंत्र देंगे पीएम मोदी, जानें कौन-कौन रहेगा मौजूदCongress Chintan Shivir 2022: उदयपुर से निकला कांग्रेस का नव संकल्प और नया नारा- भारत जोड़ोWeather Update: उत्तर भारत में और झुलसाएगी गर्मी, भीषण गर्मी और लू का अलर्ट जारीcongress chintan shivir 2022: आदिवासियों के गढ़ में आज राहुल गांधी भरेंगे हुंकार, वोट बैंक पर रहेगी नजरAAP ने किया केरल में गठबंधन का ऐलान, इस पार्टी के साथ मिलकर लड़ेगी चुनावIPL 2022 Point Table: लखनऊ को हरा दूसरे स्थान पर पहुंचा राजस्थान, चौथे स्थान के लिए चार टीमों में घमासान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.