पदाधिकारियों को हटाने का दिया नोटिस, खौफ में धरना स्थल पर पहुंच गए कांग्रेसी

अब शहर व जिला अध्यक्ष में श्रेय लेने की राजनीति शुरू

By: हुसैन अली

Published: 27 Nov 2019, 08:30 AM IST

इंदौर. केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने धरना दिया। इसमें भीड़ जुटी। इसकी वजह धरना देने के एक दिन पहले शहर व जिला कमेटी के पदाधिकारियों को भीड़ न लाने पर कार्रवाई कर पद से हटाने का नोटिस जारी करना है। कार्रवाई के खौफ से भीड़ जुट गई। इसको लेकर अब शहर व जिला अध्यक्षों में श्रेय लेने की राजनीति शुरू हो गई है। दोनों ही नेता ज्यादा भीड़ जुटाने का दावा कर रहे हैं।

केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों और देश की बदहाल आर्थिक स्थिति के खिलाफ सोमवार को कांग्रेस ने कलेक्टर कार्यालय के सामने सुबह 11 से दोपहर 1 तक धरना दिया। प्रदर्शन में भीड़ का टोटा न पड़ जाए, इसके लिए शहर कार्यकारी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल और जिला कांग्रेस अध्यक्ष सदाशिव यादव ने पदाधिकारियों को भीड़ न लाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी थी। यादव ने ब्लॉक अध्यक्षों और कार्यवाहक अध्यक्षों सहित अन्य पदाधिकारियों को धरने के एक दिन पहले नोटिस तक भेज दिया था। यह असर हुआ कि कल अच्छी-खासी भीड़ जुट गई। इसके चलते धरना सफल हो गया।

भीड़ जुटने पर श्रेय की राजनीति शुरू हो गई है। एक तरफ जहां बाकलीवाल शहरी नेताओं की ज्यादा भीड़ जुटने का दावा कर रहे हैं, वहीं यादव ग्रामीण नेताओं की भीड़ आने की बात कर रहे हैं। श्रेय की राजनीति शुरू होने पर कांग्रेस में चर्चाओं का बाजार गर्म है।

BJP Congress
हुसैन अली
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned