scriptNow the railways are keeping a close eye on the seats of VIP quota | ट्रेन में VIP कोटे की सीटों पर अब रेलवे की तिरछी नजर, चैकिंग स्टाफ करेगा चेक | Patrika News

ट्रेन में VIP कोटे की सीटों पर अब रेलवे की तिरछी नजर, चैकिंग स्टाफ करेगा चेक


इन सीटों पर आवेदन मिलने पर प्राथमिकता के आधार सीटें आरक्षित की जाती है....

इंदौर

Published: December 27, 2021 03:33:15 pm

इंदौर। ट्रेन में वीआइपी कोटे की सीटों पर रेलवे की नजर पैनी हो गई है। कोटे की सीटों की ब्लैक मार्केटिंग की शिकायत के बाद रेलवे ने जांच शुरू की है। कोटे से आरक्षित सीट पर सफर कर रहे यात्रियों से वीआइपी के विवरण का सत्यापन कराया जा रहा है। रतलाम मंडल में इसकी जिम्मेदारी वाणिज्य विभाग के टिकट चैकिंग स्टाफ को दी गई है। दरअसल, विशेष अधिकार प्राप्त यात्रियों की आकस्मिक यात्रा के लिए रेलवे सभी ट्रेने में कुछ सीटें रिजर्व रखता है। इन सीटों पर आवेदन मिलने पर प्राथमिकता के आधार सीटें आरक्षित की जाती है।

train26819611m7032905835x547m7168920835x547m.jpg
railways

कई बार इन सीटों पर रेलकर्मी और ट्रेवल एजेंट फर्जी आवेदन पत्र के आधार पर सीटें आरक्षित करवा लेते हैं और यात्रियों से कन्फर्म सीट के नाम पर पैसा वसूलते हैं। इसी को रोकने के लिए रेलवे ने भौतिक सत्यापन शुरू किया है। ये होता है कोटा: पार्लियामेंट, ड्यूटी पास, गंभीर बीमार, सेना, युवा, महिला, विकलांग आदि।

यात्रियों से करवा रहे सत्यापन

वीआइपी की आकस्मिक यात्रा के लिए आरक्षित सीटों पर सफर कर रहे यात्रियों से ट्रेन में टिकट चैकिंग स्टाफ मौके पर एक फॉर्म भरवा रहा है। जिसमें यात्री ने वीआइपी सीट के लिए किसे आवेदन किया, किस वीआइपी ने अनुमोदन किया। उसका पद नाम, मोबाइल नंबर आदि की जानकारी फॉर्म में भरवाई जा रही है। बाद में फॉर्म से इसका सत्यापन करवाया जाएगा। जुगाड़ से टिकट हासिल करने वालों को वीआइपी की जानकारी नहीं होती है। आशंका है कि ऐसे यात्री फॉर्म में सही जानकारी नहीं भर पाएंगे और फर्जीवाड़ा पकड़ में आएगा।

विनीत गुप्ता, डीआरएम, रतलाम मंडल का कहना है कि वीआइपी सीटों को क्रॉस चेक करने के लिए वाणिज्य विभाग द्वारा ट्रेनों में जाकर यात्री का फिजिकल वैरिफिकेशन किया जा रहा है। इससे फर्जीवाड़े पर अंकुश लगेगा। फिलहाल अभी तक किसी तरह की गड़बड़ी सामने नहीं आई है।

कैंसिल रहेंगी ये सीटे

उत्तर रेलवे फिरोजपुर मंडल में किसान आंदोलन के कारण इंदौर आने जाने वाली कुछ ट्रेन प्रभावित हुई है। जनसंपर्क अधिकारी खेमराज मीणा के अनुसार किसान आंदोलन के कारण कुछ ट्रेन प्रभावित हो रही है। बता दें कि गाड़ी संख्या 12919 डा. आंबेडकर नगर-श्रीमाता वैष्णोदेवी कटड़ा एक्सप्रेस, डा. आंबेडकर नगर से 28 दिसंबर को चलने वाली, नई दिल्ली स्टेशन पर शार्ट टर्मिनेट होगी तथा नई दिल्ली से श्रीमाता वैष्णोदेवी कटड़ा के मध्य निरस्त रहेगी। -गाड़ी संख्या 12920 श्रीमाता वैष्णोदेवी कटड़ा-डा. आंबेडकर नगर एक्सप्रेस, श्रीमाता वैष्णोदेवी कटड़ा स्टेशन से 27 एवं 28 दिसंबर को चलने के बजाय नई दिल्ली स्टेशन से चलेगी तथा श्रीमाता वैष्णोदेवी कटड़ा से नई दिल्ली के मध्य निरस्त रहेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: पीएम मोदी ने किया नेताजी की भव्य होलोग्राम प्रतिमा का अनावरणभारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्र सरकारUP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीअब नेशनल पार्कों में इलेक्ट्रिक व्हीकल से सफारी करेंगे पर्यटकमिशन रोजगार: यह है पहला राज्य जो 5 वर्षों में 15 लाख को देगा रोजगारकोविड टीकाकरण की पहचान आपके साथ में, अब पहनों ईमूनोबैंड अपने हाथ में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.