पति-पत्नी भाई जैसे सगे रिश्तों में हो रहे क़त्ल

अक्टूबर में सामने आए 10 से भी ज्यादा मामले, टूटते परिवार, सोशल मीडिया पर अत्यधिक सक्रियता, तनाव से बढ़ रही घटनाएं

इंदौर.विवाह सूत्र में बंधते वक्त एक-दूसरे का साथ निभाने और रक्षा करने का वचन देने वाले पति और पत्नी जान के दुश्मन बनने लगे हैं। हाल ही में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें रिश्ते दरके और बात जान देने या लेने पर आ गई। सिर्फ पति, पत्नी ही नहीं, भाई, पुत्र-पिता के रिश्तों में बढ़ती दूरी भी चिंता की वजह बन गई है।

इस तरह की घटनाएं हमारे शहर में अन्य के मुकाबले कुछ ज्यादा ही हो रही हैं। विशेषज्ञ मानते हैं कि बढ़ते शहरीकरण में भागदौड़, तनाव से परिवार के सदस्यों के बीच दूरी बढ़ रही है। एक-दूसरे को न समझ पाने, शक या शंका व छोटे-मोटे विवाद में भी लोग जान लेने पर उतारू हो जाते हैं। इसी वजह से हत्या और आत्महत्या दोनों के आंकड़े बढ़े हैं। ऐसे में समाज की जिम्मेदारी जहां सबको परिवार के सूत्र में बांधने की है तो पुलिस की विवादों को छोटे स्तर पर रहते ही निराकृत करने की।

महिलाएं हुईं शिकार
यह बहुत चौंकाने वाली बात है कि अक्टूबर महीने में ही शहर में रिश्तों के कत्ल के 10 मामले सामने आए हैं। इसमें भी छह तो पति द्वारा पत्नी की हत्या करने के हैं, बाकी में भाई, पुत्र और दोस्त ने छोटी सी बात पर अपनों की जान ले ली।

पारिवारिक विवाद के मामले पुलिस के सामने नहीं आ पाते
- पारिवारिक विवाद आमतौर पर सामने नहीं आ पाते हैं। घर में ही झगड़े होते हैं, जिससे पुलिस भी काउंसलिंग या अन्य तरीके से मदद नहीं कर पाती। शिकायत न होने पर विवाद इतने बढ़ जाते हैं कि इस तरह से उसके गंभीर परिणाम सामने आते हैं, इसलिए ऐसा करने से बेहतर है पुलिस को जानकारी जरूर दें।
-हरिनारायणचारी मिश्रा, डीआईजी

दूरियां बन रहीं इन घटनाओं की वजह
शहर में जिस तरह की घटनाएं हो रही हैं, वह रूह कंपाने वाली हैं। मासूम बच्चों के सामने पिता मां का कत्ल कर दे तो बच्चों पर क्या गुजरती होगी। ऐसे बच्चे माता-पिता दोनों के प्यार से वंचित हो जाते हैं। मां को मारने पर पिता भी जेल चला जाता है और बच्चों का भविष्य अधर में अटक जाता है।

1. रस्सी से गला घोंटकर पत्नी की हत्या
१७ अक्टूबर : क्षेत्र: विजयनगर : बड़ी भमोरी निवासी कविता से उसके पति दल्लू मालवीय ने शराब के लिए पैसे मांगे। नहीं देने पर विवाद हुआ। दो मासूम बच्चों के सामने पहले उसने पत्नी को मोगरी से पीटा, फिर रस्सी से गला घोंटकर जान ले ली। बच्चा भागा-भागा नानी के घर पहुंचा और उन्हें घटना की जानकारी दी।

2. दोस्त ने ही उतारा मौत के घाट
१८ अक्टूबर : क्षेत्र: हीरानगर : इमली बाजार में रहने वाले दीपक की हत्या उसके दोस्त अमित ने कर दी। शराब पीने के दौरान दोनों के बीच किसी बात पर विवाद हुआ। गला घोंटकर दीपक को मारने के बाद अमित परिवार के साथ उसे ढूंढने का नाटक भी करता रहा। बाद में घटनाक्रम सामने आया।

3. छोटे भाई ने मार डाला
२६ अक्टूबर : क्षेत्र: तेजाजी नगर : भावना नगर निवासी ३२ साल के भरत को छोटे भाई राजेश ने जान से मार डाला। दरअसल, वह अपने बड़े भाई के अवैध संबंधों से बहुत परेशान था, इसलिए भाभी का साथ देते हुए भरत को समझाने की कोशिश में विवाद गहरा गया और उसने तलवार से वार कर हत्या कर दी।
कार में गला दबाकर कर दी पत्नी की हत्या

3१ अक्टूबर : क्षेत्र: गांधी नगर : पारिवारिक विवाद के चलते पप्पू नामक व्यक्ति ने कार में ही गला घोंटकर पत्नी लाडक़ुंवर की हत्या कर दी। पप्पू डेढ़ साल से पत्नी से अलग रह रहा था। कार में किसी बात पर विवाद हुआ तो उसने ये घटना कर डाली। छह घंटे तक वह महिला के शव को लेकर कार में घूमता रहा। बाद में पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। उसकी १२ साल की बेटी और 10 साल का बेटा भी है।

- पति-पत्नी का रिश्ता भरोसे पर टिका होता है, ऐसे में आपस में बात करें, इससे हल तो निकलेगा ही, रिश्ता और मजबूत भी होगा। मरना, मारना कोई उपाय नहीं।

- माइंड तीन तरह के होते हैं, एक होता है कॉन्शियस, दूसरा अनकान्शियस और तीसरा सबकॉन्शियस। ऐसे में यदि कोई भी विवाद घर में होता है तो वही बातें सबकॉन्शियस माइंड में जाकर सिक्योर हो जाती हैं, ऐसे में व्यक्ति के माइंड से उसके एक्सप्लोर न होने से आपराधिक प्रवृत्ति की धारणा बन जाती है।
- हर व्यक्तिएक-दूसरे का आदर तो कर रहा है, लेकिन घर के ही लोगों से प्रतिस्पर्धा की भावना अच्छी नहीं।
- आजकल मोबाइल से ही सारे रिश्ते निभाए जा रहे हैं। मोबाइल सुविधा के लिए है, लेकिन सोशलाइज होना भी जरूरी है। लोगों से मिलते-जुलते रहें, इससे समाधान निकल जाते हैं।
- मन में कोई भी बात रखने से कोई भी रिश्ता बच नहीं सकता। बात न करने से समस्या अकसर बढ़ जाती है, ऐसे में कोई भी व्यक्ति या तो खुद की जान ले लेता है या फिर किसी ओर की।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned