परेशानी : चार माह से नियुक्ति के लिए भटक रहीं नर्सिंग की छात्राएं

परेशानी : चार माह से नियुक्ति के लिए भटक रहीं नर्सिंग की छात्राएं
परेशानी : चार माह से नियुक्ति के लिए भटक रहीं नर्सिंग की छात्राएं

Hussain Ali | Updated: 12 Oct 2019, 09:15:00 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

नियुक्ति के लिए लगा दी गई है अनुसूची अनुमोदन की शर्त

 

इंदौर. एमजीएम मेडिकल कॉलेज के अधीन नर्सिंग कॉलेज से बीएससी नर्सिंग करने के बाद नौकरी के लिए सरकारी पेंच के कारण चार माह से छात्राएं अधिकारियों से लेकर नेताओं के चक्कर काट रही हैं, लेकिन कोई जवाब नहीं मिल रहा। अलका सोकिया, अंकिता खडसे, अंकिता संनोडिया, अंगूरबाला मंडलोई आदी ने बताया कि वर्ष 2014 में व्यापमं परीक्षा से चयनित होने के बाद इस वर्ष पढ़ाई पूरी की है। 50 से ज्यादा छात्राएं चार माह से एमजीएम मेडिकल कॉलेज के अस्पतालों के लिए होने वाली भर्ती में शामिल होने के लिए कोशिश कर रही हैं। नियुक्ति के लिए अनुसूची अनुमोदन की शर्त लगा दी गई।

मंत्री को दिए ज्ञापन

इस संबंध में डीन डॉ. ज्योति बिंदल से संपर्क किया तो उन्होंने डीएमई भोपाल कार्यालय से अनुसूची अमुमोदित होने के बाद ही नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल हो पाने की बात कही। डीएमई ऑफिस से संपर्क करने पर एक ही संस्था में सूची अनुमोदन की जरूरत नहीं होने की बात कही गई। इस संबंध में छात्राओं ने डीएमई डॉ. उल्का श्रीवास्तव, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट, उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी सहित कई लोगों को ज्ञापन दिया है, लेकिन अब तक छात्राओं की समस्या का हल नहीं निकला है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned