एसडीएम के सामने ही भिड़ गए जैन संगठनों के पदाधिकारी, ये लगाए आरोप

महावीर जयंती जुलूस पर रार बरकरार : बैठक में अफसरों के सामने लगाते रहे एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप, फिर होगी बैठक

By: रीना शर्मा

Published: 04 Apr 2019, 11:22 AM IST

इंदौर. भगवान महावीर की जयंती पर निकलने वाले जुलूस को लेकर जैन समाज के गुटों में विवाद शांत नहीं हो रहा है। बुधवार को प्रशासन ने मल्हारगंज थाने पर समाज प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर सुलह की कोशिश की, लेकिन एसडीएम और सीएसपी के सामने जैन समाज के प्रतिनिधि एक-दूसरे से भिड़ गए। एक-दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगाए।

बैठक में कई बार एेसे भी मौके आएं, जब अधिकारियों को बीच बचाव कराना पड़ा। बैठक में जुलूस को लेकर कोई समाधान नहीं निकल सका। इस पर अफसरों ने समाज के प्रतिनिधियों को एक मौका फिर देते हुए आपसी समन्वय बनाने की बात कही। अफसरों के मुताबिक जल्द ही फिर बैठक बुलाकर सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी। दरअसल, दिगंबर जैन समाज के जुलूस की अनुमति के लिए आमने-सामने आए तीन संगठनों के बीच सहमति बनाने के लिए महल्हारगंज थाने में बैठक बुलाई गई थी। इसमें सामाजिक संसद के अध्यक्ष राजकुमार पाटौदी, पूर्व अध्यक्ष प्रदीप कासलीवाल व सामाजिक संसद के नरेंद्र वेद, सुरेंद्र जैन और दिगंबर जैन समाज इंदौर रजिस्टर्ड के अध्यक्ष भरत मोदी, संजय पाटोदी पहुंचे थे। भरत मोदी का कहना था, सामाजिक संसद की दोनों संस्थाएं अन रजिस्टर्ड हैं। इसके चलते दिगंबर जैन समाज इंदौर रजिस्टर्ड संस्था को जुलूस की अनुमति दी जाए। यदि यह मान्य नहीं होता तो तीनों संस्थाओं के तीन-तीन सदस्यों की कमेटी बनाकर जुलूस का संचालन किया जाए।

100 साल की परंपरा है

राजकुमार पाटौदी व प्रदीप कासलीवाल ने कहा, 100 साल से कांच मंदिर से जुलूस निकाल रहे हैं। हमारे जुलूस में जिसे भी आना है, उसका स्वागत है। संस्था को प्रशासन ने अनुमति दी है और हम ही जुलूस निकालेंगे। समिति बनाए जाने का विरोध करते हैं।

कमेटी बनाकर निकालें जुलूस

बैठक में तीनों संगठनों ने अपनी बात रखी, लेकिन सामाजिक संसद के अध्यक्ष नरेंद्र वेद ने चुप्पी साधे रखी। उनके प्रतिनिधि सुरेंद्र जैन ने कहा, कमेटी बनाकर सभी आवेदकों के लोगों को इसमें शामिल किया जाए। कमेटी बनाने की बात पर दो पक्ष सहमत हुए हैं। सकल दिगंबर जैन समाज के बैनर तले जुलूस में हमें कोई आपत्ति नहीं होगी।
&तीनों पक्षों के बीच आपसी समन्वय से निर्णय के लिए बैठक बुलाई गई थी, लेकिन इसमें विवाद की स्थिति बनने पर कोई निर्णय नहीं निकल पाया। तीनों पक्ष एक-दूसरे की बात पर सहमत नहीं हुए। कोई निर्णय नहीं निकलने के बाद तीनों संगठनों के अध्यक्ष ने चर्चा के लिए और समय मांगा है। जल्द ही दोबारा बैठक कर जुलूस निकाले जाने पर निर्णय लेंगे।

श्रीलेखा श्रोत्रिय, एसडीएम

रीना शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned