मैं जिंदगी से बहुत परेशान हो गया हूं, अब और जीना नहीं चाहता...

मैं जिंदगी से बहुत परेशान हो गया हूं, अब और जीना नहीं चाहता...

By: हुसैन अली

Published: 29 Mar 2019, 10:27 AM IST

इंदौर. जौहरी पैलेस में बुजुर्ग व्यापारी ने फांसी लगा ली। सुसाइड नोट में जिंदगी से परेशान हो जाने पर आत्महत्या करने की बात लिखी है। दुकान के सीसीटीवी फुटेज में सुसाइड नोट लिखते नजर आए हैं।

तुकोगंज पुलिस ने बताया, बैंकुठधाम कॉलोनी निवासी राजेंद्र (62) पिता बाबूलाल पारिख की एमजी रोड स्थित जौहरी पैलेस में श्रीजी कम्प्यूटर है। बेटे मंथन के साथ वे दुकान को संचालित करते थे। ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी से रिटायर होकर तीन साल पहले ये दुकान उन्होंने शुरू की। एक साल पहले करीब 3-4 लाख रुपए से दुकान का फर्नीचर भी बनवाया। परिवार में पत्नी व एक बेटी है। बेटी की गुजरात में शादी हुई है। बुधवार शाम बेटे मंथन को उन्होंने घर भेज दिया। दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में 5.38 बजे वे सुसाइड नोट लिखते हुए नजर आए। 5.49 पर वे कुर्सी लेकर सीढिय़ों से दुकान के पार्टीशन के ऊपरी हिस्से में जाते दिखे। इसके बाद नीचे नहीं आए। रात 11 बजे तक जब वे घर नहीं पहुंचे तो बेटे ने उन्हें फोन लगाया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद बेटा दुकान पर पहुंचा। दुकान का शटर तो लगा था लेकिन उस पर ताला नहीं था। अंदर लाइट भी जल रही थी।

शटर उचका कर बेटा अंदर गया तो ऊपर पिता फांसी पर मिले। उसने परिजन व रिश्तेदारों को जानकारी दी। रात में पुलिस ने शव को एमवाय अस्पताल भिजवाया। टीआइ तहजीब काजी ने बताया, राजेंद्र के पास मिले सुसाइड नोट में लिखा है, मैं जिंदगी से परेशान हो गया हूं। अब और जीना नहीं चाहता। परिवार का ठीक से निर्वाह नहीं कर पाया। अपनी मौत का जिम्मेदार मैं खुद हूं। इसके लिए किसी को परेशान नहीं किया जाए। राजेंद्र की जेब से मनोचिकित्सक की पर्ची भी मिली। आठ दिन पहले उनकी एक आंख का ऑपरेशन हुआ था। कुछ दिन बाद दूसरी आंख का ऑपरेशन होने वाला था। बीमारी को लेकर भी परेशान रहने की बात सामने आई। गुरुवार को एमवाय अस्पताल में उनका पोस्टमॉर्टम हुआ।

Patrika
हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned