परिवार के साथ खुली जेल में रहेंगे कैदी, नौकरी कर करेंगे जीवन यापन

परिवार के साथ खुली जेल में रहेंगे कैदी, नौकरी कर करेंगे जीवन यापन

Pramod Mishra | Publish: Sep, 07 2018 09:46:54 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

रविवार से होगी खुली जेल शुरू, 10 कैदी रहेंगे

इंदौर. जिन कैदियों की सजा छह महीने से एक साल की शेष है और वे जेल में अच्छा आचरण करते आए है उन्हें रविवार से खुली जेल में परिवार के साथ रखा जाएगा। वे सुबह नौकरी पर जाने की भी आजादी रहेगी।
भोपाल में पिछले दिनों खुली जेल की शुरुआत हो चुकी है, रविवार को इंदौर में भी यह शुरू होने वाला है। जिला जेल के पास की जेल को खुली जेल का रूप दिया गया है और वहां एक कैदी को वन बीएचके जितनी जगह परिवार के साथ रहने के लिए दी जा रही है। जिला जेल अधीक्षक अदिति चतुर्वेदी के यहां की खुली जैल में 10 कैदियों को रखने की व्यवस्था है। मुख्यालय स्तर पर खुली जेल में रखने के लिए कैदियों का चयन हुआ है। इसमें इंदौर का एक कैदी व अन्य कैदी भोपाल, उज्जैन के है। अधिकांश कैदी हत्या के मामले में बंद है। जिनकी सजा काफी कम बची है और अच्छा आचरण है उस आधार पर इनका चयन हुआ है। खुली जेल में पत्नी, बच्चे, भाई बहन में से कुछ लोग उनके साथ रहेंगे, उनका चयन भी मुख्यालय से हुआ है। सुबह इन्हें नौकरी के लिए बाहर जाने की इजाजत होगी, शाम छह बजे इन्हें वापस जेल में आना होगा। इस दौरान लगातार व्यवहार पर नजर रखी जाएगी। नशा अथवा किसी तरह की अनुशासनहीनता होती है तो उन्हें वापस मूल जेल में भेजा जाएगा और जेल मेन्यूअल के आधार पर सजा भी दी जाएगी।
एक महीने के खाने की व्यवस्था करेगा जेल
खुली जेल में रहने के बाद कैदियों के खाने की पहले एक महीने की व्यवस्था जेल प्रबंधन द्वारा ही की जाएगी। माना जा रहा है कि कैदियों को अगर नौकरी मिलती है तो वेतन तो उन्हें एक महीने बाद ही मिलेगा। ऐसे में एक महीने की व्यवस्था उन्हें दी जा रही है, इसके बाद की व्यवस्था उन्हें खुद ही करना होगी। नौकरी दिलाने में भी जेल प्रबंधन मदद कर रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned